कुम्भ मेले मे भीड़ होने मानकर आवश्यक तैयारियाॅ पूर्ण कर ली -ए.पी.अंशुमान

 

हरिद्वार। पुलिस महानिरीक्षक अभिसूचना ए पी अंशुमान ने कुम्भ मेला पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल के साथ मेला के दौरान अभिसूचना इकाई, हरिद्वार अभिसूचना इकाई और आसूचना ब्यूरो की समीक्षा बैठक की। बैठक के प्रारंभ मण्डलाधिकारी कुम्भ मेला अभिसूचना सुश्री सुनीता वर्मा ने कुम्भ मेला के सम्बंध में अभिसूचना द्वारा किये गए कार्यों का ब्यौरा पेश किया गया। सुश्री वर्मा द्वारा बताया गया कि कुम्भ मेला क्षेत्र में अभी तक लगभग 5000 बाहरी व्यक्तियों का चरित्र सत्यापन और लगभग 850 होटल-धर्मशालाओं की चेकिंग की जा चुकी है। कुम्भ क्षेत्र के साथ-साथ मेला क्षेत्र से लगे बाहरी क्षेत्रों में भी अभिसूचना संकलन किया जा रहा है। कुम्भ मेले में गठित सोशल मीडिया मोनिटरिंग सेल द्वारा लगातार सोशल मीडिया मोनिटरिंग का कार्य किया जा रहा है। मण्डलाधिकारी के बाद श्रीमती निवेदिता कुकरेती, एसएसपी अभिसूचना,सुरक्षा ने निर्देश दिए कि सत्यापन अभियान के दौरान रोहिंग्या और बांग्लादेशी लोगों के चिन्हीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए और यदि कोई इस प्रकार का व्यक्ति अनाधिकृत रूप से रहता हुआ पाया जाए तो उसके विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाय। श्रीमती विमला गुंज्याल पुलिस उपमहानिरीक्षक अभिसूचना मुख्यालय देहरादून द्वारा सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों के खंडन करने की सशक्त व्यवस्था बनाये जाने तथा पुलिस बल का अनुशासन और मनोबल बनाये रखने को निर्देश दिया। योगेश सिंह पुलिस उपाधीक्षक अभिसूचना मुख्यालय ने स्थानीय विवादास्पद मुद्दों, संवेदनशील स्थानों और स्थानीय समस्याओं पर भी सतर्क दृष्टि रखने को आवश्यक बताया। पुलिस महानिरीक्षक ए पी अंशुमान, ने कहा कि विगत मेलों में हुए विवादों, घटना, दुर्घटनाओं के सम्बंध में अच्छे से विश्लेषण कर आवश्यक पूर्व तैयारी कर ली जाए। जो भी तैयारी हो वो कुम्भ मेले में भीड़ का आना तय मानकर हो। किसी भी प्रकार की कोई ढिलाई या कोताही न बरती जाए। हर समय सतर्क रहें और जो भी उपयोगी अभिसूचना प्राप्त हो तो उससे तत्काल सम्बंधित और उच्चाधिकारीगण को अवगत कराएं। छोटी-छोटी विवाद की बातों पर भी पूरा ध्यान दें। जिन होटलों, धर्मशालाओं और आश्रमों के द्वारा कोविड नियमों का पालन नही किया जा रहा है उनकी चेकिंग कर उनके विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्यवाही करें। पुलिस महानिरीक्षक संजय गुंज्याल ने कुम्भ क्षेत्र में नए आकर बसे लोगों पर विशेष ध्यान देने, अलर्टनेस का स्तर हाई रखने, गुणवत्तापूर्ण कार्य करने, बिना अनुमति के ड्रोन कैमरा उड़ाने वालों के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही करने एवं कुम्भ मेला क्षेत्र में होने वाली प्रत्येक घटना, कार्यक्रम और महत्वपूर्ण गतिविधियों पर सतर्क दृष्टि बनाये रखने हेतु निर्देशित किया। कुम्भ मेला अभिसूचना इकाई के कर्मचारी भी उक्त ऑनलाइन क्लास का लाभ अपनी विभागीय परीक्षा की तैयारी के लिए प्राप्त कर सकते हैं।