निगम में जारी गतिरोध के लिए मेयर और कांग्रेस जिम्मेदार-सुनील अग्रवाल

 

हरिद्वार। मनोज खन्ना-नगर निगम बोर्ड बैठक के दौरान भाजपा पार्षदों पर एसएनए व लिपिक के साथ अभद्रता करने के आरोपों के चलते उत्पन्न गतिरोध पर अपना पक्ष रखते हुए भाजपा पार्षद दल ने इसके लिए मेयर, मेयर पति व कांग्रेस नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है। शुक्रवार को प्रैस क्लब में पत्रकारो से वार्ता करते हुए भाजपा पार्षद दल के नेता सुनील अग्रवाल ने कहा कि एसएनए को जातिसूचक शब्द कहे जाने के आरोप पूरी तरह गलत है।। एसएनए नगर निगम की सफाई व्यवस्था के प्रभारी हैं। बोर्ड बैठक के दौरान पार्षदों ने इसे लेकर ही अपना विरोध जताया था। बैठक के दौरान ही पार्षदों ने खेद भी व्यक्त कर दिया था। इसके बावजूद एसएनए बोर्ड बैठक छोड़ कर चले गए और पार्षदों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी। जो कि सदन की अवमानना है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों व कर्मचारियों को पार्षदों व आमजनता की बात सुननी चाहिए। यदि अधिकारी व कर्मचारी कुछ सुनेंगे ही नहीं तो कैसे काम चलेगा। पार्षद दल के उपनेता अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि मेयर, मेयर पति व कुछ कांग्रेस नेता पूरे मामले को राजनीतिक रंग दे रहे हैं। कर्मचारियों को गुमराह कर हड़ताल करायी जा रही है। पार्षद कई बार खेद प्रकट कर चुके हैं। इसके बावजूद राजनैतिक लाभ के लिए मामले को लगातार तूल दिया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि जनहित के मामलों में पार्षद अपनी समस्या को नगर निगम के अधिकारी से अवगत करा सकताा है। यह कोई बड़ी गलती नहीं है। जनता के हितों में अधिकारियों से भी किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि फैसले की बात की गयी लेकिन कुछ कांग्रेसी फैसले को होने नहीं दे रहे हैं। जो कांग्रेसी राजनीतिक जनाधार खो चुके हैं। वह इस मामले को लेकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम कर रहे हैं। प्रैसवार्ता के दौरान पार्षद राजेश शर्मा, अनिल वशिष्ठ, विनीत जौली, नेपाल सिंह मौजूद रहे।


Comments