आपदा की घटना के बाद प्रशासन पूरी तरह अलर्ट,एसएसपी ने लिया जायजा

हरिद्वार। उत्तराखंड राज्य के जनपद चमोली के क्षेत्रान्तर्गत जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने व बादल फटने की घटना के बाद जिला प्रशासन पूरी तरह से एलर्ट पर है। रविवार को जिलाधिकारी सी रविशंकर एवं एसएसपी सैथिल अबुदई कृष्ण राज एस लगातार स्थिति पर नजर रखते हुए गंगा किनारे रहने वालों को हटाने की कार्यवाही करा रहे है। हरि की पैड़ी पर गंगा को पूरी तरह से रोक दिया गया। जिलाधिकारी ने लोगों से किसी भी तरह की अफवाहों से बचने की अपील है। प्राकृतिक आपदा की सूचना के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा भीमगोडा बैराज डैम का व अन्य नदी के किनारों का निरीक्षण करते हुए खतरे से निपटने जनपद के पुलिस अधिकारियों को एवं आपदा प्रबंधन टीमों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। गंगा के किनारे रहने वालों के साथ साथ ही क्षेत्र में थाना प्रभारी को बराबर लाउडस्पीकर के माध्यम से क्षेत्र की जनता को सतर्क रहने की रहने की हिदायत दी गयी तथा पुलिस बल को रेस्क्यू सामान की तैयारी की दशा में देने हेतु निर्देशित किया गया.   उत्तराखंड जनपद के जोशीमठ में ग्लेशियर फटने की घटना की सूचना के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा हरिद्वार के लालजी वाला डाम व अन्य नदी के किनारों का निरीक्षण करते हुए खतरे से निपटने हेतु जनपद के पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। साथ ही क्षेत्र में थाना प्रभारी को बराबर लाउडस्पीकर के माध्यम से क्षेत्र की जनता को सतर्क रहने व स्थितिनुसार स्थान तत्काल खाली करने की हिदायत दी गई तथा पुलिस बल को मय रेस्क्यू सामान के तैयारी की दशा में रहने हेतु निर्देशित किया गया । जनपद हरिद्वार पुलिस द्वारा स्थिति पर बराबर नजर रखी जा रही है। पुलिस अधीक्षक नगर द्वारा स्वयं थाना श्यामपुर क्षेत्र में जाकर नदी किनारे रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया तथा हिदायत दी गई कि कोई भी नदी के किनारे नहीं जाएंगे तथा समय रहते हुए अपना सामान भी सुरक्षित स्थानों पर ले साथ ही जनपद के समस्त थानाध्यक्ष द्वारा अपने अपने क्षेत्र में नदी के किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया।