प्रदेश में खुशहाली व कोरोना से मुक्ति हेतु श्रीमद्भागवत कथा का शुभारम्भ

 

हरिद्वार। खन्ना नगर वासियों की ओर से खन्ना नगर घाट पर आयोजित श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के शुभारंभ पर मंगल कलश यात्रा निकाली। मंगल कलश यात्रा में बड़ी संख्या में महिला श्रद्धालु सम्मिलित हुए। कथा का शुभारंभ करते हुए कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के प्रतिनिधि मुकेश कौशिक ने कहा कि माघ मास में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन कर रहे समस्त खन्ना नगर निवासी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि कल्याणकारी श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन व श्रवण करने से सभी दुख संकटों व कष्टों से छुटकारा मिलता है। परिवारों में सुख समृद्धि का वास होता है। सभी को कथा का श्रवण अवश्य करना चाहिए। समाजसेवी पंकज माटा ने कहा कि धार्मिक आयोजनों से समाज में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। प्रदेश व देश की खुशहाली तथा कोरोना वायरस से पूर्ण मुक्ति की कामना के साथ खन्ना नगर निवासियों द्वारा सामूहिक रूप से श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। पंकज माटा ने कहा कि सभी के सहयोग से आयोजित की जा रही श्रीमद् भागवत कथा अवश्य ही कल्याणकारी होगी। उन्होंने कहा कि कष्टों से मुक्ति पानी है तो धार्मिक क्रियाकलापों में अवश्य सम्मिलित होना चाहिए। उन्होंने युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि धार्मिक आयोजन अपनी संस्कृति को समझने का सबसे अच्छा माध्यम हैं। सभी को धार्मिक आयोजन में बढ़चढ़ कर प्रतिभाग करना चाहिए। भाजपा नेता डा.विशाल गर्ग ने कहा कि सांसारिक मोहमाया में उलझकर मनुष्य अपने पथ से भटक जाता है। श्रीमद् भागवत कथा के श्रवण से भटकाव समाप्त हो जाता है और मनुष्य कर्म पथ पर अग्रसर होता है। कथा व्यास आचार्य चन्द्र प्रकाश कौशिक वृन्दावन वाले ने श्रद्धालुओं को कथा श्रवण कराते हुए कहा कि अत्यन्त पवित्र माघ मास में श्रीहरि की कथा के आयोजन से बढ़कर दूसरा कोई कार्य नहीं हो सकता। श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करने से मन के सभी विकार नष्ट हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान का वह भण्डार है, जिसे जितना ग्रहण करो जिज्ञासा उतनी ही बढ़ती जाती है। श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करने मात्र से अधोगति में पड़े पितरों को भी मोक्ष की प्राप्ति होती है। श्रीहरि कृपा होने पर सभी संकट समाप्त हो जाते हैं। जीवन प्रगति के पथ पर अग्रसर होता है।