एसओपी के खिलाफ संयुक्त मोर्चा ने किया आंदोलन का ऐलान,वापस लेने की मांग

 हरिद्वार। कुम्भ 2021 को लेकर सरकार द्वारा जारी एसओपी के खिलाफ व्यापारियों,होटल व्यवसायियो ने मोर्चा खोलते हुए चेतावनी दी है कि अगर एसओपी में परिवर्तन नही किया गया तो राज्यव्यापी आंदोलन किया जायेगा। कुंभ मेले को लेकर राज्य सरकार की एसओपी का विरोध तेज हो गया है, राज्यपाल,मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर एसओपी को वापस लेने की मांग की जायेगी। 21 फरवरी को सुभाष घाट पर संयुक्त मोर्चा धरना देगा। आरोप लगाया कि हरिद्वार कुम्भ को खत्म करने की साजिश की जा रही है। शुक्रवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए प्रदेश व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष संजीव चैधरी ने कहा कि राज्य सरकार ने 01 से 28 अप्रैल तक कुंभ मेले कराने की घोषणा की है, मेले को लेकर राज्य सरकार ने एसओपी जारी की है,उसका संयुक्त मोर्चे के माध्यम से उसका विरोध करते हैं। उन्होने राज्य सरकार से उसे हटाने की मांग करते हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में चल रहे माघ मेले के लिए कोई एसओपी जारी नहीं की गई है, मथुरा में भी मेला चल रहा है। कहा कि बिहार में चुनाव हुए और पश्चिमी बंगाल में चल रहे रैलियों के कोई एसओपी लागू नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में एक ही पार्टी की सरकार है लेकिन नियम अलग-अलग बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि संयुक्त मोर्चा ने तीन दिवसीय धरना देने का निर्णय लिया है। इसके बाद भी अगर सरकार नहीं चेती तो अनिश्चितकालीन धरना दिया जाएगा। लघु व्यापार एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा कि कुम्भ मेले के दौरान सरकार विशेष लोगों का ध्यान रख रही है, स्थानीय लोगों की अनदेखी कर रही है उन्होंने कहा कि कोरोना में हमारा व्यापार पूरी तरह से ठप्प हो गया है, चार धाम यात्रा भी ठप रही है,सरकार ने मेले की घोषणा 1 अप्रैल से करने की बात की है और उसके एस ओ पी को अभी से ही लागू कर दिया गया है, उन्होंने इसे तुगलकी फरमान बताते हुए इसे वापस लेने की मांग की है। उन्होंने सरकार को इस मुद्दे पर एक संयुक्त कमेटी बनाकर जिसमें व्यापारी, संत समाज, पत्रकार और मेला अधिकारी भी शामिल कर बैठक करके इस पर निर्णय लेने का सुझाव दिया है।एस ओ पी के विरोध में तीन दिवसीय धरने प्रदर्शन का एलान कर दिया है।  सुभाष घाट पर धरना देने के अगले दिन रेलवे स्टेशन पर धरना दिया जाएगा और तीसरे दिन मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा जाएगा। प्रेसवार्ता में प्रदेश व्यापार मंडल के संरक्षक पूर्व पालिकाध्यक्ष प्रदीप चैधरी,बार एसोसिएशन के पूर्व सचिव एडवोकेट अरविंद श्रीवास्तव, विशाल मूर्ति भट्ट, सुनील अरोड़ा ,दीपक गुनियाल आदि शामिल हुए,


Comments