काॅवड़ मेले व कुम्भ पर प्रतिबंध लगाने के विरोध में व्यापारियों ने किया प्रदर्शन

 

हरिद्वार। अपर रोड स्थित प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल द्वारा कुंभ मेला प्रशासन द्वारा शिवरात्रि का कांवड़ मेला व कुम्भ मेले को लेकर तरह-तरह की पाबंदी लगाने के विरोध में व्यापार मण्डल के व्यापारियों ने जोरदार प्रदर्शन कर नारेबाजी की। इस मौके पर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष डॉ. नीरज सिंघल ने कहा कि कुंभ मेला प्रशासन एवं उत्तराखंड प्रशासन को व्यापारी हित एवं हिंदू हित में अपने निर्णय पर पुनः पूर्ण विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद भी कांवड़ मेले को कोरोना के नाम पर निरस्त किया गया था। कोरोना महामारी अब देश भर में नियंत्रण में है इसके बावजूद भी सरकार कोरोना जांच के नाम पर यात्री श्रद्धालुओं पर अंकुश लगाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कुंभ मेला प्रशासन को शिवरात्रि कांवड़ मेले को विधिवत संपन्न कराना चाहिए। उन्हांेने कहा कि  दृढ़ इच्छाशक्ति व प्रशासनिक क्षमता का परिचय देते हुए कुम्भ मेले को सकुशल सम्पन्न कराने में सरकार को सहयोग करना चाहिए। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिला महामंत्री संजय त्रिवाल ने कहा हिंदुओं की बात करने वाली सरकार आखिर कांवड़ मेला स्थगित व पाबंदियां लगाने में क्यों जुटी हुई है। शिवरात्रि कांवड़ मेले के साथ-साथ कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं को जांच के नाम पर भ्रमित करने का काम किया जा रहा है जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। संजय त्रिवाल ने कहा कि हिन्दू समाज को सरकार क्या संदेश देना चाहती है, ऐसे में कुम्भ मेले का क्या औचित्य रह जाता हैं जबकि शिवरात्रि को कुंभ का मुख्य स्नान हैं। उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हस्तक्षेप करने की मांग की। उन्होने तमाम हिंदू नेताओं शंकराचार्य सहित महामंडलेश्वर, संतांे, धर्माचार्य से मांग की है कि वह हिंदू हित में शिवरात्रि कांवड़ मेला सकुशल संपन्न कराने हेतु कुंभ मेला प्रशासन से वार्ता करें। प्रदर्शन करने वालों में मुख्य रूप से हरि चैहान, विकास तांत्रिवाल, अजय रावल, विनीत यादव, सतीश चैहान, नीरज कुमार, मोहनदास गोस्वामी, मनोज विश्नोई, हरि सिंह सोनी, पवन कुमार, दिनेश कुकरेजा, विशाल महेश्वरी, राजीव शर्मा, सूरज कुमार, सुनील कुमार आदि शामिल रहे।