बदलाव के मूड़ में है रानीपुर की जनता-संजीव चैधरी

 हरिद्वार। कमल मिश्रा-रानीपुर विधान सभा के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेसी नेता संजीव चैधरी के नेतृत्व में क्षेत्र की उपेक्षा के विरोध मे सत्याग्रह मार्च किया। टिहरी विस्थपित कालोनी स्थित राम मन्दिर से शुरू हुआ मार्च पीएसी रोड होते हुए सुभाष नगर में संपन्न हुआ। इस दौरान कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कांग्रेसी नेता संजीव चैधरी ने कहा कि राज्य मे कांग्रेस की सरकार बनने वाली है। क्षेत्र की उपेक्षा से परेशान रानीपुर की विधानसभा भी बदलाव का मूड़ बना चुकी है। रानीपुर विधान सभा के गठन नौ वर्ष हो चुके हैं। लेकिन क्षेत्र में सड़क, सीवरेज, पानी व स्ट्रीट लाइट के लिए जनता को आज भी संघर्ष करना पड़ रहा है और जनप्रतिनिधि आँखें बंद कर सत्ता के नशे मे चूर बैठे हैं। सिडकुल होते हुए भी क्षेत्र के युवा रोजगार के लिए अन्य राज्य मे दर दर की ठोकर खा रहे है। कानून व्यवस्था का भी बुरा हाल है। विधानसभा क्षेत्र में चोरी ओर महिलाओं के साथ झपटमारी की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं। चैधरी ने कहा की हरिद्वार की सीमा से लगा हुआ होने के बावजूद रानीपुर क्षेत्र कुम्भ का हिस्सा नही है।  जबकि यहाँ से सौ किलोमीटर दूर देवप्रयाग कुम्भ मे शामिल है। यह विधायक व क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की बड़ी विफलता है। सत्याग्रह मार्च मे मुख्य रूप से युवा नेता नरेश शर्मा, विकास बोहरा, दिग्विजय यादव, दीपक काला, विपिन राणा, अरविंद चैधरी, विजय धीमान, मिथिलेश वर्मा, बलराज घलियान, नफे सिंह, आरएस पाल, बालेश्वर प्रसाद, राम आशीष यादव, आरएन, ए के सिंह, परशुराम सिंह, सच्चिदानंद सिंह, रामअवध यादव, कुसुमलाल यादव, गुरुदेव शर्मा, आरएन उपाध्याय, चिंगारी यादव, अशोक शर्मा, अनिल कुमार सिंह, एसएस चोबे, सुरेंद्र चैधरी, मांगेराम, मुसाफिर, बीएन सिंह, बलबीर सिंह, कमला कांत शर्मा व भुपेंद्र सिंह आदि सैंकड़ों कार्यकर्ता शामिल रहे।