प्रथम शाही स्नान के दौरान एसओपी का पालन करना हितकर-दीपक रावत

 

हरिद्वार।  मेलाधिकारी दीपक रावत ने मंगलवार को सीसीआर के आसपास के क्षेत्र और घाट का निरीक्षण किया। उन्होंने सभी लोगों से हाथों को सेनेटाइज करने और मास्क लगाने की अपील की। मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि महाशिवरात्रि स्नान को लेकर केंद्र और राज्य सरकार की ओर से जारी एसओपी के गाइडलाइंस का श्रद्धालुओं को हर हाल में पालन करना चाहिए, यह सभी के लिए हितकर होगा। उन्होंने बताया कि यह एसओपी 10 से 12 मार्च तक प्रभावी रहेगी। उन्होंने बताया कि 40 से अधिक टीमें कोविड सैंपलिंग और जांच के लिए लगाई गई हैं। मेलाधिकारी ने कहा कि श्रद्धालु प्लास्टिक कैरी बैग न.लेकर आएं और जो लोग भी  डिस्पोजल मास्क लगाकर आ रहे हैं उसे प्रयोग के बाद इधर उधर न  फेंके, अपने साथ लेकर जाएं। उन्होंने सीसीआर के समीप शिवघाट पर लगे चेंजिंग रूम को देखकर उन्हें सुव्यवस्थित रखने के निर्देश दिए। मेलाधिकारी ने सीएसआर फंड से एक निजी कंपनी की ओर से मेला नियंत्रण भवन गेट पर लगाए गए हैंडसेनेटाइजर पोस्ट और मेले में जगह जगह घूमकर 100 से अधिक हैंड सेनेटाइजर मशीन से लोगों को सेनेटाइज करने के कार्य की सराहना की। निरीक्षण के दौरान अपर मेलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, उप मेलाधिकारी दयानंद सरस्वती, तकनीकी प्रकोष्ठ के अधीक्षण अभियंता हरीश पांगती आदि उपस्थित थे।