कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के बिना नहीं मिलेगी हरिद्वार में एंट्री-आईजी संजय गुंज्याल

हरिद्वार। उत्तराखंड में एक बार फिर से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कुंभ मेला पुलिस ने हरिद्वार से लगे बॉर्डर पर पुलिस कर्मियों की संख्या बढ़ा दी है। 1 अप्रैल से कुंभ मेले के लिए भारत सरकार और राज्य सरकार की एसओपी लागू हो जाएगी। आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल ने कहा कि सरकार द्वारा जारी एसओपी और हाई कोर्ट के आदेश का सख्ती से पालन किया जाएगा। 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट के बिना किसी भी यात्री व श्रद्धालुओं को हरिद्वार की सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। इसके लिए बॉर्डर पर उत्तराखंड पुलिस के साथ ही पैरामिलिट्री फोर्स की संख्या बढ़ाई जायगी। बॉर्डर पर मजिस्ट्रेट और स्वास्थ्य विभाग की टीम भी तैनात रहेगी। श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने पर बॉर्डर पर ही कोरोना टेस्ट की व्यवस्था की जाएगी। टेस्ट कराने के बाद ही यात्री और श्रद्धालुओं को उत्तराखंड की सीमा में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। गौरतलब है कि देश भर में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में हरिद्वार में आयोजित हो रहे कुंभ मेले को कोरोना के खतरे से बचाए रखना सरकार व पुलिस प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती है। 12 व 14 अप्रैल को होने वाले अखाड़ों के शाही स्नान पर देश भर से श्रद्धालुओं के भारी संख्या में हरिद्वार आने की संभावना है। ऐसे में कोरोना का खतरा गंभीर हो सकता है। इसको देखते हुए मेला प्रशासन ने कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। मुख्य शाही स्नान के दौरान आठ दिनों के लिए मेला पुलिस का यातायात प्लान जारी