बैरागी संतों से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत

 

हरिद्वार। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बैरागी कैंप स्थित श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़ा पहुंचकर बैरागी अखाड़ों के श्रीमहंतों से भेंटवार्ता कर जल्द सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। अखाड़े पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हनुमान मंदिर में पूजा अर्चना की और संतों का आशीर्वाद लिया। तीनों वैष्णव अखाड़े के संतों ने फूलमाला पहनाकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का स्वागत कर आशीर्वाद दिया। इस दौरान संतों की ओर से मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भी दिया गया। पंच वैष्णव तीनों अनी अखाड़ों के संत महापुरूषों द्वारा बैरागी कैंप में मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने की मांग को दोहराया गया था। अखिल भारतीय श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्रदास महाराज ने कहा कि अखाड़े के अंतर्गत ग्यारह सौ कैंप खालसे आते हैं। कुंभ मेले में बैरागी कैंप में मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाएं। अखाड़ों की भूमि को टीन शेड से घेरा जाए। अखाड़ों को भूमि आवंटन कर अन्य अखाड़ों की तरह सभी सुविधाएं प्रदान की जाएं। उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष नाराजगी जताते हुए कहा कि मेला प्रशासन बैरागी अखाड़ों की उपेक्षा कर रहा है। बार बार मांग करने के बावजूद भी अभी तक तीनों वैष्णव अखाड़ों को किसी प्रकार की सुविधा उपलब्ध नहीं करायी गयी है। उन्होंने कहा कि कुंभ मेला शुरू हो चुका है। जल्द ही वृन्दावन से लाखों वैष्णव संत अपने लाव लश्कर के साथ हरिद्वार पहुंच जाएंगे। बिजली, पानी, शौचायल, सफाई जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं होने पर संतों को भारी असुविधाओं का सामना करना पड़ेगा। अखिल भारतीय श्री पंच निर्वाणी अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत धर्मदास महाराज ने मुख्यमंत्री के समक्ष कहा कि ग्यारह सौ खालसों की सुख सुविधाओं का ध्यान रखा जाना चाहिए। बैरागी कैंप में टेंट, रसोई, कोठार, भण्डार व चरण पादुका के लिए उचित प्रबंध करने होंगे। तीनों वैष्णव अनी अखाड़ों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए भूमि की पैमाईश कर स्थान उपलब्ध कराने चाहिए। साधु संतों में सुविधाओं को लेकर किसी भी प्रकार का विवाद ना उत्पन्न हो। इसका ध्यान मेला प्रशासन को रखना होगा। कुंभ मेले के दृष्टिगत पैमाईश के आधार पर रोड़, बिजली, पानी, शौचालय, स्नान घर, पानी निकासी आदि की सुविधाएं भी युद्ध स्तर पर की जाएं। भेंटवार्ता के दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने श्री पंच वैष्णव तीनो अनी अखाड़ों के संत महापुरूषों को जल्द सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन देते हुए मेला प्रशासन को त्वरित कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कंुभ मेला सकुशल व निर्विघ्न संपन्न हो। राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है। इस दौरान मेला अधिकारी दीपक रावत, मेला आईजी संजय गुंज्याल भी मौजूद रहे। इस अवसर पर महंत प्रहलाद दास, महंत रामकिशोर दास शास्त्री, महंत रामजी दास, खाकी अखाड़े के महंत भगवान दास, महंत मोहनदास, महंत मनीष दास, म.म.गंगा दास, महंत केशवदास, ब्रह्माण्ड गुरू अनंत रामानंदाचार्य महाप्रभु, महंत रामदास, महंत सुखदेव दास, महंत अमित दास, आचार्य अमरीश तिवारी, महंत प्रमोद दास, महंत दुर्गादास आदि संतजन मौजूद रहे। 


Comments