लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं के लिए एक तिहाई सीटों का आरक्षण हो

 हरिद्वार। लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं के लिये एक तिहाई सीटों के आरक्षण की व्यवस्था होनी चाहिये। इससे महिलाओं का राजनैतिक सशक्तिकरण होगा और उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा। यह बात महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव अनुपमा रावत ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर महानगर महिला कांग्रेस द्वारा आयोजित उत्तरी हरिद्वार के राधाकृष्ण धाम में महिला सम्मेलन में व्यक्त किए। अनुपमा ने बढ़ती महंगाई पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस जैसी अनेक चीजों की कीमतें आसमान छू रही हैं, जिससे महिलाओं का घर चलाना मुश्किल हो रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि बढ़ती हुई महंगाई पर अंकुश लगाया जाए। राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष डॉ. संतोष चैहान ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। कहा कि देशभर में महिला अपराधों में लगातार वृद्धि हो रही है, जो चिंता का विषय है। डॉ. चैहान ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकारों को मिलकर इस दिशा में प्रभावी कदम उठाने चाहिये। मेयर श्रीमती अनिता शर्मा ने महिलाओं के लिए राजनीतिक,आर्थिक मजबूती पर कार्य करने का आहवान किया। महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष अंजू मिश्रा ने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाने के लिये प्रयास किये जाने चाहिये। जब महिलायें अपने पैरों पर खड़ी होंगी तभी उनका सशक्तिकरण हो सकता है। शशि झा, लता जोशी, मिथलेश गिल ने महिलाओं से अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होने पर जोर दिया। सम्मेलन में विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट योगदान के लिये 6 महिलाओं को सम्मानित भी किया गया। सम्मानित किए जाने वालों में पर्यावरणविद् रिद्धिमा पाण्डेय, पत्रकार एवं लेखक राधिका नागरथ, माधुरी भट्टाचार्य, वीना कपूर (समाजसेवा), पुष्पा जोशी, पदमावती शामिल रहीं। कार्यक्रम में कविता वशिष्ठ, रिंकी राय, अंजू द्विवेदी, शाहजहां मुमताज, ग्रेस कश्यप, सुमन अग्रवाल, सुभद्रा आर्य, वर्षा वर्मा, संचिता आदि महिलायें बड़ी संख्या में उपस्थित रहीं।


Comments