महिला दिवस पर संघर्षशील महिलाओं को सम्मानित

हरिद्वार। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद उत्तराखंड एवं भारतीय संस्कृति फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सम्मान समारोह में सरकारी सेवा, योग, शिक्षा, सामाजिक सेवा सहित विभिन्न क्षेत्रों में संघर्षशील महिलाओं को प्रशस्ति पत्र एवं उपहार देकर सम्मानित किया गया। प्रैस क्लब में आयोजित ‘बहनों की कलम से‘ शीर्षक से आयोजित सम्मान समारोह का शुभारम्भ मां सरस्वती की वन्दना एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुआ। इस मौके पर मुख्य अतिथि दिल्ली से आए क्रिएटिव फिल्म डायरेक्टर सुनील पाराशर ने महिला सशक्तिकरण पर जोर देते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस महिलाओं के नेतृत्व को एक पहचान और सम्मान देने का वक्त है। सिडकुल एसोसियेशन के अध्यक्ष अरूण सारस्वत ने कहा कि बीते वर्ष वैश्विक संक्रामक महामारी कोविड-19 के कहर से पूरी दुनिया प्रभावित हुई है। इस महामारी के दौर में महिलाओं ने भी कोरोना योद्धा के रूप में अग्रिम पंक्ति में खड़े रहकर मानवीय सेवा की मिसाल पेश की है। कार्यक्रम को डा.सोनू राउत, अंशु गौतम, लीना सचदेवा, अनीता वशिष्ट, मुक्ता मुखर्जी, प्रकाश राठौर ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के दौरान प्रियंका भारद्वाज, कल्पना गहलोत, ओशीन, रितु शर्मा, रोली अग्रवाल, हर्ष कालरा, पार्वती देवी, चारू अग्रवाल, जयश्री राठौर, भावना भारद्वाज, अमीता थपलियाल, गुंजन पाण्डेय, अनुष्का, मानवी बमराडा, आराधना बहल, विद्योतमा बहुगुणा, सरस्वती सचदेवा, लता लालवानी, दिव्यांशी गिरि, मंजुला सक्सेना, रिधिमा पाण्डेय, माया, शिवानी पाठक, रीना गौतम, मुमताज, दीपिका संगतानी आदि महिलाओं को प्रशस्ति पत्र व उपहार भेंटकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में ऋतिका शर्मा, रीना शर्मा, दीप्ति  शर्मा, मोनिका शर्मा, अर्चना शर्मा, योगी रजनीश, राजेन्द्र नाथ गोस्वामी, निशांत कौशिक, जिलाध्यक्ष विपिन शर्मा, महामंत्री विकास शर्मा, रविन्द्र उनियाल, मधुकर शर्मा, तनु भल्ला, डा.सत्यनारायण शर्मा, चेतन चैबे, अरूण भारद्वाज, निशा शर्मा, अर्चना शर्मा, डा. जितेन्द्र सिंह, चन्द्रशेखर जोशी सहित नगर के अनेक गणमान्य जन उपस्थित रहे। कार्यक्रम आयोजक पं.मनोज गौतम, पं.बालकृष्ण शास्त्री एवं मानवी वशिष्ठ ने उपस्थित सभी अतिथियों का सम्मान पत्र एंव गंगाजली भेंट कर अभिनन्दन किया। कार्यक्रम का संचालन पंडित बालकृष्ण शास्त्री एवं फाउण्डेशन की अध्यक्षा मानवी वशिष्ट ने संयुक्त रूप से किया।