कुम्भ मेला काल आज से श्रद्वालुओं के लिए एसओपी का पालन अनिवार्य

हरिद्वार। कोरोना काल में सीमित किये गये कुम्भ मेला 2021 की शुरूआत कल गुरूवार से शुरू हो जायेगी। इसके साथ ही देश के अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों के लिए नियमों में बदलाव लागू हो जायेगा। एक से 30अप्रैल तक कुम्भ मेला अवधि सम्बन्धी अधिसूचना पहले ही राज्य सरकार की ओर से जारी की जा चुकी है। गुरूवार से कुम्भ मेला क्षेत्र में आने वाले 12राज्यो के श्रद्वालुओं को 72घण्टे पूर्व की कोरोना की नेगेटिव रिर्पोट साथ में लाना अनिवार्य हो जायेगा। इसके साथ ही गुरू वार से कुम्भ मेला क्षेत्र में मेला प्रशासन पूरी तरह से सक्रिय हो जायेगा। इसके साथ ही कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी कुम्भ मेला पुलिस के अधीन हो जायेगी। इस बार कोरोना महामारी के कारण कुम्भ मेला की अवधि चार महीने से घटाकर एक महीने कर दी गयी है। राज्य सरकार की ओर से पहले ही आने वाले श्रद्वालुओं के लिए एसओपी जारी कर पालन को अनिवार्य किया जा चुका है। हरिद्वार में कुम्भ मेला क्षेत्र 650हैक्टयर क्षेत्र में फेला हुआ है। जहां पर श्रद्वालुओं के लिए 107 गंगा घाट तैयार किये गये है। दस हजार से अधिक सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है,जिनमें केन्द्रीय अद्र्वसैनिक बल भी शामिल है। मेला पुलिस महानिरीक्षक संजय गुज्याल के अनुसार एक अप्रैल से दूसरे राज्यों से शहर में आने वाले श्रद्वालुओं के लिए एसओपी का पालन अनिवार्य होगा। खासकर 12राज्यों से आने वाले श्रद्वालुओं के लिए 72घण्टे पूर्व की कोरोना जाॅच नेगेटिव रिर्पोट लाना एवं कुम्भ पोर्टल पर पंजीकरण पूरी तरह से लागू किया जायेगा। हालंकि स्थानीय लोगों को इस मामले में राहत मिलेगी। कुम्भ मेला क्षेत्र में कोविड गाइड लाइन का पालन सुनिश्चित कराना मेला पुलिस की प्राथमिकता होगी।