आईजी ने ली मेला पुलिस, सीपीएमएफ, यूपी पीएसी अधिकारियों की फॉलोअप मीटिंग

 

हरिद्वार। कुम्भ मेला आईजी संजय गुंज्याल ने कहा कि इस बार शाही स्नान की ब्रीफिंग के तुरंत बाद से यातायात और कुछ अन्य महत्वपूर्ण स्थानों की ड्यूटियां लगा दी जाएंगी, ताकि शाही स्नान से एक दिन पहले आने वाले वाहनों को मेला क्षेत्र में इधर-उधर बेतरतीब खड़ा होने से रोका जा सके। यह बात उन्होंने मंगलवार को सीसीआर में बीते दिन हुई डि-ब्रीफिंग के संबंध में मेला पुलिस, सीपीएमएफ, उत्तर प्रदेश पीएसी के राजपत्रित अधिकारियों की फॉलोअप मीटिंग लेते हुए कही। आईजी कुंभ ने कहा कि शाही स्नान का ड्यूटी चार्ट 5-6 मार्च तक सभी को उपलब्ध हो जाएगा। यदि ड्यूटी चार्ट में फील्ड की जरूरत के हिसाब से कहीं किसी बदलाव की जरूरत महसूस हो तो समय रहते करवा लें। अधिकारी व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाते समय उनके अनुभव और जानकारी को ध्यान में रखें और काबिलियत के हिसाब से ड्यूटी लगाएं। एक बार जिसकी ड्यूटी जहां लग जाये उसे बार बार न बदला जाए। पूरे मेले तक उसे एक ही स्थान पर ड्यूटी में लगाये रखा जाए ताकि वो उस क्षेत्र में रहने वाले, व्यापारी और अन्य स्थानीय लोगों से भली-भांति परिचित और मित्रवत हो जाए। आईजी ने कहा कि सभी सेक्टर पुलिस ऑफिसर अपने-अपने सेक्टर का रंगीन गूगल मैप छपवा लें और अपने सभी ड्यूटी प्वाइंट को उस गूगल मैप में दर्शाएं। जिन सेक्टर में पार्किंग पड़ रही हैं वो सभी सेक्टर ऑफिसर पार्किंग की मैपिंग कराएं और पार्किंग में वाहनों के आने व जाने के लिए अलग-अलग रास्ते बनाये। आईजी कुंभ ने सीपीएमएफ और उत्तर प्रदेश पीएसी के उपस्थित राजपत्रित अधिकारियों को बताया गया कि कुंभ मेला ड्यूटी में आये अर्द्धसैनिक बलों की सभी शाखाओं में से एक-एक राजपत्रित अधिकारी लेकर एक वेलफेयर कमेटी बनाए। ये कमेटी कैंप स्थलों पर जाकर उनके रहने, खाने और शौचालय आदि से संबंधित समस्याओं का तत्काल निस्तारण करेगी। फॉलोअप मीटिंग में आईजी कुंभ ने सभी अधिकारियों को बताया कि पूरी दुनिया में हरिद्वार को भगदड़ के लिहाज से बेहद संवेदनशील माना जाता है और इतिहास इस बात का गवाह भी है।


Comments