कोविड की सैंपलिंग और टेस्टिंग कराने में तेजी लाए-डाॅ पंकज पाण्डेय

 हरिद्वार। चिकित्सा स्वास्थ्य परिवार कल्याण के सचिव एवं कुम्भ मेला स्वासथ्य नोडल अधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार पांडेय ने आयुर्वेदिक काॅलेज ऋषिकुल परिसर में मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के कार्यालय में कुम्भ मेला से सम्बंधित स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा की। डा0 पंकज कुमार पांडेय ने अधिकारियों को भारत सरकार द्वारा महाकुम्भ मेला 2021 के लिए जारी कोविड-19 की एसओपी के अनुसार कार्य करने, हैल्थ कंट्रोल रूम स्थापित करने, वैक्सीनेशन के लिए निजी अस्पतालों को भी प्रोत्साहित करने, अस्पतालों में भी आरटीपीसीआर, एंटीजन रैपिड टेस्ट की नियमित जांच की व्यवस्था, एंबुलेंस आदि की पूरी फूलप्रूफ व्यवस्था करने के अधिकारियों को निर्देश दिये। नोडल अधिकारी स्वास्थ्य कुंभ मेला ने अधिकारियों से कहा कि अस्पतालों में आइसीयू यूनिट को हर समय क्रियाशील रखें, कोविड  की सैंपलिंग और टेस्टिंग कराने में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि जो भी चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ ड्यूटी पर रहें, वह फेसशील्ड, मास्क, ग्लब्स पहनंे, सेनेटाइजर की हर अस्पताल में व्यवस्था होनी चाहिए। मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डाॅ0 अर्जुन सिंह सेंगर ने एंबुलेंस की उपलब्धता के सम्बंध में जानकारी सचिव को दी। सीएमओ डाॅ0 एसके झा ने सचिव व नोडल अधिकारी स्वास्थ्य कुंभ मेला को बताया कि पिछले स्नान के दिन 40 जगह सैंपलिंग कराई गई थी। इस पर सचिव ने कहा कि सभी अस्पतालों में नियमित सैंपलिंग और टेस्टिंग जारी रहनी चाहिए। बैठक में कोविड वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक करने में आइएमए के चिकित्सकों का सहयोग लेने और भीड़ वाले क्षेत्रों में छोटी एंबुलेंस तैनात करने का सुझाव दायित्वधारी पंकज सहगल ने दिया। अपर मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डा रामप्रकाश ने बताया कि भीड़भाड़ और प्रमुख जगहों पर मिनी और मोबाइल के साथ ही बाइक एंबुलेंस की तैनाती कार्य योजना के अनुसार की गई है। प्रभारी सचिव ने प्रत्येक अस्पताल में दो-दो एंबुलेंस तैनात रखने और सभी प्रबंध सुनियोजित तरीके से करने, आश्रम, प्रमुख स्थानों पर निकटतम अस्पताल के नंबर सहित साइनेज बोर्ड लगवाने के निर्देश दिए। बैठक में डीजी हेल्थ डाॅ0 तृप्ति बहुगुणा, अपर मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डाॅ0 प्रवीन कुमार, अभिहीत अधिकारी खाद्य सुरक्षा आरएस पाल आदि मौजूद थे।