जनपद में कोरोना का कहर जारी,896नये मरीजों के साथ ही एक्टिव केस चार हजार के पार

 

हरिद्वार। जनपद में कोरोना संक्रमण का लहर लगातार जारी है। शुक्रवार को तीन स्वास्थ्यकर्मियों सहित जनपद में 896 नये कोरोना संक्रमितों की पहचान की गयी। कोविड मरीजों के होम आइसोलेशन की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। जनपद में एक्टिव केसों की संख्या चार हजार से अधिक हो गयी है। पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे केसों से जनपदवासियों को भय सताने लगा है। शुक्रवार को शहर से सटे शिवालिकनगर में 60 मरीजों की पहचान की गयी है। राज्य के साथ साथ जनपद हरिद्वार में नये कोरोना संक्रमण की रफ्रतार का तेजी से बढ़ना लगातार जारी है। राज्य के साथ साथ जनपद में संक्रमण बेकाबू होने लगा है। शुक्रवार को जनपद में 896 नये कोरोना पाॅजिटिव की पहचान की गयी। शुक्रवार को हरिद्वार क्षेत्र में सबसे अधिक 305 पाॅजिटिव पाये गये है। जनपद में एक्टिव केस चार हजार से अधिक हो गये है। जबकि 39 हजार से अधिक सैपल की रिर्पोट का इंतजार है। शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार जनपद में कोरोना संक्रमण की रफ्रतार थमने का नाम नही ले रहा है। जनपद में शुक्रवार को 896 नये कोरोना मरीजों की पहचान हुई है, इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर 31789 हो गयी है,हलांकि एक्टिव केस 4128 है। 3467 मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। 100 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। शुक्रवार को 12148 लोगों के सैम्पल कोविड जांच के लिए भेजे गये है। फिलहाल अब तक 39098 व्यक्तियों के सैपल का परिणाम आने बाकी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ.एस.क.ेझा के अनुसार जनपद में कटेंनेमेंट जोन बढ़कर 13 हो गई है। शुक्रवार को हरिद्वार अर्बन में 305, बहादराबाद में 233,रूड़की क्षेत्र में 298, भगवानपुर क्षेत्र में 11 के अलावा अन्य राज्यों के 32 पाॅजिटिव केस शामिल है। शुक्रवार को शिवालिकनगर में 60,बीएचईएल में 29,दीपगंगा अपार्टमेंट में 13 के अलावा सिडकुल के दो बड़ी कम्पनियों में 10 कोरोना पाॅजिटिव पाये गये है। जनपद में अब तक 45 साल से उपर के 184035 व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा चुका है।

कोरोना से दो और संतो की हुई मौत
हरिद्वार। कोरोना वायरस संक्रमण का प्रकोप निरंजनी अखाड़े में लगातार जारी है। शुक्रवार को श्री निरंजनी अखाड़े के दो और संत की मौत हो गयी। बताया जाता है कि अजय गिरी उम्र 55 वर्ष जिनकी एम्स में कोरोना के उपचार के दौरान मौत हुई। जबकि सोमनाथ उम्र 50 वर्ष की दूधाधारी बर्फानी कोविड हॉस्पिटल में मौत हो गयी। दो संतो की मौत के बाद निरंजनी अखाड़े में शोक की लहर दौड़ गई है। कोरोना संक्रमण से निरंजनी अखाड़े के पांच संतों की अब तक मौत हो चुकी है। वही शुक्रवार को अखाड़े में 50 साधु संतों की कोरोना जांच की गयी है। दो संतो की मौत के बाद निरंजनी अखाड़े में साधु संतों में हड़कम्प मचा हुआ है।

Comments