दोपहर होते होते सुनसान होने लगी तीर्थनगरी की सड़के

 हरिद्वार। कुम्भनगरी की सड़के शाम होते होते सुनसान नजर आने लगी है,वजह बढ़ते कोरोना संक्रमण के मददे्नजर शासन द्वारा सायं सात बजे से सुबह पांच बजे तक लाॅकडाउन लगाना है। धर्मनगरी के साथ साथ पूरे राज्य में कोरोना संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ रहा है। बढ़ते संक्रमण के चितिंत प्रदेश सरकार के आदेश पर जिलाधिकारी की ओर से जनपद में सायं सात बजे से सुबह पांच बजे तक कफ्रयू यानि लाॅकडाउन लगाया है। सुबह सात बजे से दोपहर दो बजे तक बाजार खुलेगे,जबकि खाने की दुकाने सायं सात बजे तक खुल सकेगी। सड़को पर वाहनों का चलना सायं सात बजे तक जारी रह सकेगी। इसके अलावा मेडिकल की दुकानें 24घण्टें खुल सकेगी। हालात सुधारने के लिए राज्य सरकार की ओर से पांबदिया लगायी गयी है। पांबदियों की वजह से कुम्भ मेला जारी रहने के बाद भी नगर की सड़के सायं सात बजे के बाद पूरी तरह से वीरान नजर आने लगी। इससे पहले बुधवार दोपहर दो बजे के बाद पुलिस की ओर से सभी दुकानांे को बंद करने की अपील की जा रही थी। बताते चले कि कुम्भ मेला के मुख्य शाही स्नान के बाद से ही तीर्थनगरी में भी कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले पांच दिनों में ही दो हजार से अधिक संक्रमितों की पहचान की गयी है,इनमें अखाड़ो में रहने वाले साधु-संत भी शामिल है। राज्य सरकार के आदेश के बाद बुधवार को दोपहर 2 बजे बाद पुलिस ने सारे बाजार बंद करा दिए। दोपहर बाद बाजार के साथ ही सड़कों पर भी सन्नाटा पसर गया। दोपहर 2 बजे से बाजार बंद करने को लेकर शहर भर के कारोबारियों में असमंजस की स्थिति बनी थी। मुख्य सचिव का आदेश स्पष्ट न होने और जिला प्रशासन द्वारा कोई आदेश जारी न करने पर व्यापारी परेशान रहे। व्यापारी सुबह से परेशान रहे कि कुंभ क्षेत्र में सरकार का आदेश लागू रहेगा कि नहीं। रामनवमी का स्नान पर्व होने के कारण कुछ भी स्पष्ट नहीं था। जिस कारण शहर भर के व्यापारियों में जिला प्रशासन को लेकर आक्रोश देखा गया। बुधवार दोपहर 2 बजते ही शहर से देहात तक पुलिस ने बाजार को बंद कराना शुरू कर दिया था। चंद मिनटों के अंदर ही शटर गिराकर दुकानदार घरों को लौट गए। पुलिस ने शहर में जगह-जगह लाउडस्पीकर के जरिए बाजार बंद करने का अलाउसमेंट कराया। दोपहर ढाई बजे तक रानीपुर मोड़, अपर रोड, हरकी पैड़ी का बाजार, खड़खड़ी, कनखल, ज्वालापुर आदि क्षेत्रों में बाजार बंद हो गए थे। बहादराबाद, पथरी व धनपुरा में भी पुलिस ने बाजार बंद कराने को लेकर अनाउंसमेंट कराया। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेन्द्र गिरि पहले ही कोरोना पाॅजिटिव हो चुके है,जिनका उपचार एम्स ऋषिकेश में जारी है,उसके बाद श्रीनिरंजनी अखाड़ा के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज भी पाॅजिटिव होकर उपचार करा रहे है। संतो के साथ साथ तीर्थनगरी में बड़ी संख्या में लोग संक्रमित होने लगे है। बहरहाल बुधवार को दोपहर बाद से ही दुकानें बंद होने लगी,जबकि सड़को पर वाहनों का आवागमन भी सामान्य दिनों की अपेक्षा काफी कम रही। पुलिस टीम लगातार भ्रमण कर लोगों से लाॅकडाउन होने की अपील करते हुए सहयोग करने की अपील करती रही।


Comments