श्रद्वा उत्साह के साथ मर्यादा पुरूषोत्म भगवान राम का मनाया प्रकटोत्सव

 हरिद्वार। तीर्थनगरी में भगवान राम का जन्मोत्सव पूरे धार्मिक श्रद्वा,उत्साह के साथ मनाया गया। कोविड के कारण किसी बड़े धार्मिक आयोजन के बजाए लोगों ने घर-घर में मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम के प्रकटोत्सव को अपने अपने ढंग से मनाया। इन दिनों कुम्भ मेला 2021 का दौर जारी रहने के कारण रामनवमी के अवसर पर बैरागी अखाड़ों सहित विभिन्न पण्डालों में भगवान राम का जन्मोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस दौरान कई आश्रमों,पण्डालो तथा बैरागी अखाड़ों में विशेष धार्मिक आयोजन कर उत्साह के साथ भगवान राम की पूजा अर्चना की गई। कोरोना महामारी के बीच शक्ति की आराधना का पर्व नवमी श्रद्धा के साथ मनाई गई। इसी के साथ ही नवरात्र का समापन भी हो गया। रामनवमी पर घर-घर देवी के रूप में कन्याओं को पूजा गया। लेकिन कोरोना के कारण पूजन के लिए कन्याओं को तलाशने में दिक्कतें भी आईं। लोगों ने कन्याओं को उपहार वितरित किए। देवी मंदिरों में दिन भर पूजा अर्चना होती रही। नवरात्र संपन्न होने पर लोगों ने घरों में प्रसाद के रूप में हलवा-पूरी बनाया। लोगों को कन्याएं तलाशने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके लिए लोग इधर-उधर दौड़ते नजर आए। शाम के समय मंदिरों में देवी मां की विशेष आरती हुई। मंदिरों में श्रद्धालुओं की संख्या सीमित ही नजर आई। श्रद्धालुओं ने विधि-विधान से मां सिद्धिदात्रि की पूजा के बाद कन्यापूजन व भोज कराकर व्रत खोला। अन्य दिनों की अपेक्षा रामनवमी के दिन भी मंदिरों में स्थानीय लोगों की भीड़ दिखी। लोगों ने घरों में कन्याओं को भोजन कराने के बाद स्वेच्छा से कन्याओं को पैसे, कपड़े व श्रृंगार की सामग्री वितरित की।


Comments