शाही स्नान के लिए हरकी पैड़ी पहुंचे संतों का स्वागत करते मेला अधिकारी

 

हरिद्वार। मेलाधिकारी दीपक रावत एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुम्भ मेला जनमेजय खण्डूरी ने बुधवार की सुबह मेष संक्रान्ति कुम्भ शाही स्नान 14 अप्रैल को हरकी पैड़ी ब्रह्मकुण्ड पहुंच कर महाकुम्भ के सकुशल सम्पन्न होने के लिये माॅ गंगा व अन्य देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना की। मेलाधिकारी दीपक रावत सुबह सात बजे से पहले ही मेला नियंत्रण भवन अपने कार्यालय में पहुंच चुके थे। कार्यालय पहुंचकर उन्होंने अधिकारियों को महाकुम्भ के सम्बन्ध में कई दिशा-निर्देश दिये। उसके पश्चात वे शाही स्नान रूट का निरीक्षण करते हुये हरकी पैड़ी ब्रह्मकुण्ड पहुंचे, जहां उन्होंने महाकुम्भ के सकुशल सम्पन्न होने के लिये माॅ गंगा व अन्य देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना की। पूजा-अर्चना के समय श्रीगंगा महासभा के अध्यक्ष प्रदीप झा, अपर मेलाधिकारी डा.ललित नारायण मिश्र, हरवीर सिंह, सेक्टर मजिस्ट्रेट योगेश मेहरा, गंगा सभा के पदाधिकारी उपस्थित थे। पूजा-अर्चना करने के पश्चात मेलाधिकारी दीपक रावत हरकी पैड़ी स्थित पुल नम्बर.1 पर पहुंचे, जहां पर उन्होंने आठ बजकर 56 मिनट पर शाही स्नान के लिये आ रहे सर्वप्रथम निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानन्द गिरी महाराज, अखाड़े के सचिव और मनसादेवी ट्रस्ट के सचिव श्रीमहंन्त रवीन्द्र पुरी महाराज, आनन्द अखाड़े के आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी बालकानन्द गिरि महाराज सहित अन्य सन्तों का स्वागत पुष्प वर्षा व पुष्प माला पहनाकर किया। इसके पश्चात सन्तों के हरकी पैड़ी ब्रहृमकुण्ड पहुंचने पर पूजा-अर्चना एवं विधि-विधान से शाही स्नान का शुभारम्भ हुआ। 


Comments