योग को अपनाकर ही हम अपने संपूर्ण स्वास्थ्य को प्राप्त कर सकते है

 हरिद्वार। उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय द्वारा गुरुकुल परिसर हरिद्वार में एक योग  सांस्कृतिक संध्या का कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें गुरुकुल, ऋषिकुल, उत्तरांचल आयुर्वेदिक कॉलेज, पतंजलि आयुर्वेदिक कॉलेज आदि विभिन्न कॉलेज के विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विवि के कुलपति प्रो. सुनील जोशी ने की। इस अवसर पर विवि के कुलसचिव प्रोफेसर उत्तम शर्मा, ऋषिकुल परिसर निदेशक अनूप गक्कड़, गुरुकुल के परिसर निदेशक प्रो. अरुण त्रिपाठी मौजूद रहे। सुनील जोशी ने कहा कि वर्तमान महामारी कोविड-19 के इस चैलेंजिंग दौर में अच्छे स्वास्थ्य के लिए योग और आयुर्वेद की तरफ सारी दुनिया देख रही है। हमें अपने दैनिक जीवन में अष्टांग योग को शामिल करना चाहिए। इस तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम, योग प्रदर्शन एवं जागरूकता अभियान कैंपेनिंग के माध्यम से योग के प्रचार-प्रसार को बल मिलता है तथा लोग और अधिक योग करने के लिए प्रेरित होते हैं। आयुर्वेद जहां शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कला सिखाती है, वही योग द्वारा मन एवं इंद्रियों पर नियंत्रण के द्वारा हम अपने मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा रख सकते हैं। योग को अपनाकर ही हम अपने संपूर्ण स्वास्थ्य को प्राप्त कर सकते है। कार्यक्रम में मुख्य परिसर हर्रावाला की टीम डॉ. दिलप्रीत कौर, मन्नत मारवाह के निर्देशन में शानदार योग का प्रदर्शन किया गया। पतंजलि आयुर्वेदिक कॉलेज की टीम द्वारा स्केटिंग योग प्रदर्शन किया गया। गुरुकुल एवं ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज के यूजी पीजी डॉक्टर्स द्वारा सूर्य नमस्कार का संगीतमय प्रदर्शन किया। उत्तरांचल आयुर्वेदिक कॉलेज के द्वारा संगीत योग प्रदर्शन गया। इस योग महाकुंभ के संयोजक प्रो. अवधेश मिश्रा, प्रो. बालकृष्ण पंवार, डॉ. मयंक भटकोटी रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. एसपी सिंह ने किया। कार्यक्रम में परिसर निदेशक प्रो. अरुण त्रिपाठी, प्रो. जीपी गर्ग, प्रो. संजय त्रिपाठी, डॉ. शोभित वाष्र्णेय, डॉ. अंकित सैनी, डा. राजीव कुरेले, ज्ञान प्रकाश, डा. देवेश शुक्ला, प्रो. विपिन चंद्र पांडे, डॉ. दिनेश गोयल, प्रो. एन पांडे, डा. शिखा पांडे, डॉ. भावना मित्तल, डॉ.शीतल वर्मा, डॉ. शैलेंद्र प्रधान, डॉ. विपिन अरोड़ा, डॉ. शशिकांत तिवारी, डा. आरके गौतम आदि शामिल रहे।


Comments