निर्मल अखाड़े ने किया मेला प्रशासन के अधिकारियों को सम्मानित

 

हरिद्वार। कुम्भ मेला का अंतिम शाही स्नान व कुंभ मेला सकुशल संपन्न होने पर श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल की और से कुंभ मेला प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों को फूलमाला पहनाकर व शाॅल ओढाकर तथा स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। निर्मला छावनी में अधिकारियों को सम्मानित किए जाने के दौरान निर्मल पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह वेदांताचार्य महाराज ने कहा कि कुंभ मेला सनातन धर्म एवं भारतीय संस्कृति का सबसे बड़ा पर्व है। जिसे सफलतापूर्वक निर्विघ्न संपन्न कराने का दायित्व कुंभ मेला प्रशासन के अधिकारियों का होता है। मेला प्रशासन के अनुभवी अधिकारियों की मेहनत से कुंभ मेला सकुशल संपन्न हुआ है। इसके लिए सभी अधिकारी आशीर्वाद व बधाई के पात्र हैं। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष व निर्मल अखाड़े के सचिव महंत देवेंद्र सिंह शास्त्री ने कहा कि परंरागत रूप से कुंभ मेला चार महीने चलता है। लेकिन विश्वव्यापी कोरोना महामारी की वजह से कुंभ की अवधि सीमित करनी पड़ी। विपरीत परिस्थितियों में कुंभ मेला सकुशल संपन्न कराना एक बड़ी चुनौती थी। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के निर्देशन में मेला अधिकारी दीपक रावत, मेला आईजी संजय गुंज्याल, अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह व अन्य अधिकारियों ने कार्यकुशलता का प्रदर्शन करते हुए चारों शाही स्नान व कुंभ मेला सकुशल संपन्न कराया। इसके लिए सभी अधिकारी बधाई के पात्र हैं। निर्मल अखाड़े के कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि निर्मल अखाड़े सहित सभी अखाड़ों ने कुंभ को लेकर व्यापक तैयारियां की थी। मेला प्रशासन की ओर से भी अच्छी तैयारियां की गयी थी। लेकिन मानवीय जीवन की रक्षा सर्वोपरि है। इसी वजह से कोरोना महामारी के चलते कुंभ की अवधि को सीमित करना पड़ा। महंत प्यारा सिंह ने कहा कि सनातन धर्म के प्रमुख पर्व कुंभ मेले जैसे विशाल धार्मिक आयोजन को सकुशल संपन्न कराने के लिए सभी अधिकारी बधाई के पात्र हैं। इस दौरान मेला अधिकारी दीपक रावत, मेला आईजी संजय गुंज्याल, अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह, एसपी सुरजीत सिंह पंवार, सीओ सिटी अभय सिंह, सीओ अखाड़ा प्रबोध घिल्डियाल, उप मेला अधिकारी दयानंद सरस्वती, मेला तहसीलदार मंजीत सिंह सहित सभी अधिकारियों को फूलमाला पहनाकर, शाॅल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर महंत सतनाम सिंह, महंत दर्शन सिंह, महंत खेमसिंह, महंत अमनदीप सिंह, महंत रंजय सिंह, बीबी बिनिन्दर कौर सोढ़ी, महंत हरविन्दर सिंह, महंत अजायब सिह, महंत गुरचरण सिंह, संत तलविन्दर सिंह, संत रोहित सिंह, संत जसकरण सिंह, महंत सिमरन सिंह, संत सुखमन सिंह, संत विष्णु सिंह, समाजसेवी अतुल शर्मा आदि मौजूद रहे। 


Comments