अंजुमन गुलामाने मुस्तफा सोसायटी के पदाधिकारियों ने पुलिस से कार्रवाई की मांग

 

हरिद्वार। अंजुमन गुलामाने मुस्तफा सोसायटी के पदाधिकारियों ने कोतवाली ज्वालापुर में कोतवाली प्रभारी को तहरीर देकर महंत नरसिंहानन्द सरस्वती पर पैगम्बर मुहम्मद साहब के विषय में अभद्र भाषा का प्रयोग करने व इस्लाम धर्म के बारे दुष्प्रचार करने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। इस दौरान सोसायटी के नायब सदर हाजी अनीस खान ने कहा कि महंत नरसिंहानन्द सरस्वती ने पैगम्बर मुहम्मद साहब के प्रति अभद्र भाषा का उपयोग करते हुए इस्लाम धर्म के प्रति जिस प्रकार दुष्प्रचार किया है। उससे इस्लाम धर्म को मानने वाले सभी लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। पुलिस प्रशासन को उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हे गिरफ्तार कर जेल भेजना चाहिए। सचिव शादाब साबरी ने कहा कि इस्लाम धर्म के महान पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब प्रति संकीर्ण व अत्यन्त घृणित भाषा का प्रयोग किया जाना एक संत को कतई शोभा नहीं देता है। शादाब साबरी ने कहा कि इससे दुनिया के तमाम मुसलमानों को गहरा आघात लगा है। देश में अमनोचैन बनाए रखने व देश की तरक्की में हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी मिलजुल कर प्रयास करते हैं। देश की एकता व भाईचारे को बनाए रखने के लिए सभी धर्म समुदाय का आदर सम्मान किया जाना चाहिए। जो लोग देश का माहौल व शांति व्यवस्था को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। हाजी मकबूल कुरैशी व हाजी नईम कुरैशी ने कहा कि पैगम्बर मुहम्मद साहब की शान में किसी भी तरह की गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। संत नरसिंहानन्द अपनी मानसिक स्थिति को खो बैठे हैं। बेहुदा बयान से मुसलमानों व इस्लाम की भावनाओं को आहत करने की कोशिश कर रहे हैं। साथ ही देश का अमन सौहार्द व आपसी प्रेम को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। धार्मिक नफरत फैलाकर अमन व शांति को ठेस पहुचायी जा रही है। ऐसे लोगों से सबको सावधान रहना चाहिए। इस दौरान रिजवान, हाजी रफी खान, खफी खान, हाजी गुलजार अंसारी, अनीस, सुभान कुरैशी, जमशेद खान, शफक्कत अब्बासी, राव जावेद, आलम सैफी, मकबूल कुरैशी, मनव्वर कुरैशी, इसरार सलमानी, चैधरी अतीक कुरैशी, संजय कुमार, अनीस कुरैशी, नसीम कुरैशी, हुसैन, दिलनवाज अब्बासी, शाहबाज अब्बासी, फुरकान कुरैशी आदि शामिल रहे।  


Comments