महानिर्वाणी अखाड़े द्वारा कुम्भ समापन को लेकर पंचों की बैठक आज

 हरिद्वार। सात सन्यासी अखाड़ों में से श्रीनिरंजनी, श्री आनंद, श्रीपंचदशनाम जूना, अग्नि और आवाहन अखाड़े की ओर से कुम्भ समाप्ति की घोषणा के बाद, सन्यासी अखाड़ो में तीसरे सबसे अखाड़े महानिर्वाणी अखाड़े ने घोषणा की है कि वह कल अखाड़े के पंचो की बैैैठक के बाद कुम्भ में रहने अथवा समापन करने का फैसला करेंगे। श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी ने कहा है कि उनके सहयोगी अटल अखाड़े द्वारा भी कल ही फैसला किया जाएगा। अखाड़े के सचिव महंत रविन्द्रपुरी का कहना है कि पीएम ने जो अपील की है हम सब उसका सम्मान करते है और सभी उस पर अमल कर रहे है। उनका कहना है कि कुंभ पंचांग की गणना के आधार पर चलता है। उत्तराखंड सरकार द्वारा कुंभ 1 अप्रैल से 30 अप्रैल तक की अधिसूचना जारी की गई है।अखाड़े से सचिव महंत रविन्द्रपुरी का कहना है कि हमारी धर्म ध्वजा एक मुहूर्त में ही स्थापित की जाती है और उसके विसर्जन का भी मुहूर्त होता है। उन्होंने कहा कि कल उनके अखाड़े और उनके साथ के अटल अखाड़े की बैठक होगी जिसमें कुंभ को लेकर फैसला किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोन की भयावता को देखते हुए कुछ अखाड़ो ने ऐसा निर्णय लिया है मगर सरकार की तरफ से कुंभ के निरस्त होने की कोई सूचना नही है।


Comments