151 नये कोरोना संक्रमितों की पहचान,1290 स्वस्थ होकर लौटें

 

हरिद्वार। जनपद में कोरोना संक्रमण के मामले में लगातार कमी आने लगी है। दूसरी लहर के धीमा होने का असर यहा भी हुआ है। सोमवार को जनपद में 151 नये कोरोना संक्रमितों की पहचान की गयी, साथ ही 06 कोरोना मरीजों की मौत हो गई। इसके सापेक्ष 1290 कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने पर राहत मिली। पिछले कुछ दिनों से जनपद में मौजूद एक्टिव मरीजों की संख्या में भी कमी आयी है। जनपद में करीब 25 दिनांे तक जनपद में कोरोना संक्रमितों का आॅकड़ा लगातार बढ़ने के बाद पिछले पांच दिनों से संक्रमितों की संख्या में कमी आयी है। सोमवार को जनपद में 151 कोरोना मरीजों की पहचान की गयी। वही 1290 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। लेकिन जांच के लिए सैम्पल भेजने की रफ्रतार काफी धीमा हो गया है। हरिद्वार जनपद सीएमओ कार्यालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार सोमवार को 151 कोरोना मरीजों की पहचान के साथ ही जनपद में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 49152 हो गयी है। अभी करीब साढे तीन हजार लोगों के सैम्पल की जांच रिर्पोट का इंतजार है। सोमवार को कोविड केयर केन्द्रों से 25 तथा होम आइसोलेशन से 1265 कुल 1290 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। अभी भी होम आइसोलेशन में 4164 कोविड मरीज उपचार करा रहे है। जनपद में सोमवार को 151 कोरोना के नये संक्रमितों की पहचान की गयी, इनमे एक बार फिर रूड़की क्षेत्र में सबसे अधिक 39 पाॅजिटिव पाये गये है। जनपद में कोरोना संक्रमितों की संख्या कुल 49152 हो गयी है,जबकि एक्टिव  5481 से घटकर 4381 हो गयी है। जनपद में इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर 49152 हो गयी है। सोमवार को 5704 लोगों के सैम्पल कोविड जांच के लिए भेजे गये है। फिलहाल अब तक 3411 व्यक्तियों के सैपल का परिणाम आने बाकी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ.एस.क.ेझा के अनुसार जनपद में कटेंनेमेंट जोन की संख्या घटकर 27 हो गई है। सोमवार को हरिद्वार अर्बन में 15, बहादराबाद में 32,रूड़की क्षेत्र में 39, भगवानपुर क्षेत्र में 09,लक्सर क्षेत्र में 09,नारसन में 19 के अलावा 27 अन्य राज्यों पाॅजिटिव केस शामिल है। सोमवार को 45 साल से उपर के 217829 व्यक्तियों का टीकाकरण हो किया जा चुका है। वही 18 से 44 साल के युवाओं का टीकाकरण वैक्सीन नही आने के कारण रूक गया है। पिछले तीन दिन से इन वर्ग के लाभार्थियों का टीकाकरण नही हो पा रहा है।


Comments