कोविड अस्पताल के संचालन हेतु प्रशासन व पतंजली के बीच सहमति

 

हरिद्वार। हरिद्वार। जनपद में कोरोना से बिगड़ते हालात को संभालने के लिए जिला प्रशासन की मदद अब पतंजलि योगपीठ करने जा रहा है, जिसको लेकर आज जिला प्रशासन और पतंजलि योगपीठ के आचार्य बालकृष्ण की मेला नियंत्रण भवन में एक अहम बैठक आयोजित की गई, जिसमें बर्फानी हॉस्पिटल और कुंभ मेले में बना पावन धाम बेस हॉस्पिटल को पतंजलि जिला प्रशासन के साथ मिलकर संचालित करेगा, दोनों हॉस्पिटलों को कोविड-19 क्रिटिकल केयर के रूप में संचालित किया जाएगा, जिससे हरिद्वार में कोरोना के बिगड़े हालातों पर काबू पाया जा सके। दरअसल जिलाधिकारी सी रविशंकर ने शनिवार को सीसीआर सभागार में आचार्य बालकृष्ण के साथ पतंजली और सरकार के सहयोग से बेस चिकित्सालय कुम्भ मेला तथा बाबा बर्फानी चिकित्सालय दूधाधारी के संचालन किये जाने को लेकर बैठक की। बैठक में संयुक्त संसाधन और सेवाओं से चिकित्सालय संचालन के लिए अनुबंध के विचार विमर्श किया गया। पतंजली की ओर से स्टाफ नर्स, आयुर्वेद चिकित्सक, योग प्रशिक्षक, भोजन, व चिकित्सक व स्टाफ के लिए आवासीय सुविधा सहित अन्य सेवाओं पर सहमती बनी। जिला प्रशासन की ओर से भी अन्य डीसीएचसी, डीएचसी की तरफ सभी सेवाऐं संसाधन उपलब्ध कराये जायेंगे।जिलाधिकारी ने कहा कि हर संभव संसाधन जिला प्रशासन और पतंजली मिलकर मरीजों को उपलब्ध करायेंगे। शुरुआत में ये चिकित्सालय आक्सीजन सपोर्ट बैड से शुरू करते हुए तकनीकी स्टाफ के प्रशिक्षण के बाद वेंटिलेटर के साथ भी उपचार किया जा सकेगा। मरीजो कोे बेहतर उपचार मिले यही प्रयास है। कार्य करने वाले सभी चिकित्सक, स्टाफ को प्रशिक्षित किया जायेगा। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजली के सहयोग से संचालित दोनो चिकित्सालयों को पूरे देश में कोविड उपचार के लिए आदर्श संस्थान बनाने को पतंजली पूर्ण सहयोग के लिए तैयार है। कोरोना रोगियों को सरकार और पतंजली के सहयोग से बेहतरीन उपचार मिले इसी मंशा से पतंजली अपनी सहभागिता निभायेगा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गहरवार, नोडल अधिकारी अंशुल सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के के मिश्रा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एसके झा, एसीएमओ डाॅ एचडी शाक्य सहित पतंजलि प्रबंधन के अधिकारी चिकित्सक उपस्थित रहे।


Comments