सेवारत व सेवानिवृत कार्मिकों के लिए पृथक टीकाकरण केंद्र बनाये जाने की मांग

 

हरिद्वार। उत्तरांचल (पर्वतीय) कर्मचारी शिक्षक संगठन जनपद हरिद्वार उत्तराखंड के बैनर तले बृहस्पतिवार को विभिन्न निकायों के राज्य कर्मियों ने सेवारत व सेवानिवृत कार्मिकों के परिजनों हेतु पृथक कोविड टीकाकरण केंद्र बनाए जाने की मांग करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी हरिद्वार को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में सेवारत एवं सेवानिवृत्त राज्य कार्मिकों के 18 से 45 आयु वर्ग के आश्रितों एवं परिजनों हेतु कोविड वैक्सीनेशन के लिए पृथक से कैंप संचालित करने की मांग की गई है। संगठन के जिलाध्यक्ष कृष्ण चंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि 9 मई 2021 को संगठन की एक वर्चुअल बैठक आहूत की गई थी। जिसमे विभिन्न घटकों के पदाधिकारियों व सदस्यों ने भाग लेकर मांग कि सभी सेवारत व सेवानिवृत राज्य कार्मिकों के परिजनों के लिए कोविड टीकाकरण के लिये पृथक केंद्र बनाए जाने चाहिए। इसी प्रस्ताव को लेकर आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी को ज्ञापन प्रेषित किया गया है। कृष्णचंद शर्मा ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के व्यक्तियों का राष्ट्रव्यापी वृहद टीकाकरण अभियान प्रारम्भ किया गया है। जिसके लिए विभिन्न स्थानों पर टीकाकरण केंद्र संचालित किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि उक्त केंद्रों पर अप्रत्याशित भीड़ प्रदर्शित हो रही है। उन्होंने बताया कि यदि कार्मिकों के परिजन ऐसी भीड़ में टीकाकरण के लिए जाते है तो उनके संक्रमित होने का खतरा बना रहता है। उन्होंने बताया कि विभिन्न घटकों के कार्मिक कोरोना संक्रमण के समय मे अपने संस्थानों में मुस्तैदी के साथ अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं। पूर्व कार्मिक नेता जटाशंकर श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल मे राज्य कर्मी कोविड गाइडलाइंस को ध्यान रखते हुए अपने कर्तव्य को अंजाम दे रहे हैं। किंतु जब उनके परिजन भीड़ में टीकाकरण के लिए जाएंगे तो उनके संक्रमित होने की संभावना होगी जो कोरोना संक्रमण के प्रसार का माध्यम बन सकता है। जिला महामंत्री ललित मोहन जोशी ने बताया कि टीकाकरण केंद्रों पर भारी भीड़ को रोक पाने में प्रशासन असफल साबित हो रहा है। ऐसे में राज्य कर्मियों के परिजनों के लिए प्रथक टीकाकरण केंद्र बनाए जाने अति आवश्यक है। जिससे कार्मिकों के संक्रमित होने का खतरा न हो। ग्राम विकास मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री इमरान अंसारी ने बताया कि सेवारत व सेवानिवृत राज्य कार्मिकों के परिजन यदि भीड़ में जाकर टीकाकरण कराएंगे तो उनके संक्रमित होने का खतरा होगा। जिससे कार्मिकों के संक्रमित होने का भी खतरा बढ़ जाएगा। साथ में वो कार्मिक कोरोना संक्रमण के प्रसार का माध्यम भी बन सकते हैं। इसलिए कार्मिकों के परिजनों हेतु पृथक टीकाकरण केंद्र बनाए जाने अति आवश्यक हैं। ज्ञापन देने वालों में टीएस पंवार, दिनेश जोशी, गब्बर सिंह रावत, मनोज चंद, जितेंद्र कुमार, भुवन चंद पंत, महिपाल सिंह चैहान, वीके गुप्ता आदि शामिल रहे।


Comments