गन्ना राज्यमंत्री ने स्वास्थ्य केन्द्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के दिए निर्देश

 

हरिद्वार। कोरोना के ग्रामीण अंचलों में फेलने की आशंका के बीच मंगलवार को गन्ना राज्यमंत्री स्वामी यतिश्वरानन्द ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुरुकुल नारसन का औचक निरिक्षण किया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर केंद्र अधीक्षक ना होने पर नाराजगी जताते हुए उन्होंने स्वास्थ्य सचिव से फोन पर बात की और वहाँ की असुविधाओं को तत्काल ठीक करने के निर्देश दिए। उन्होने वहां हो रहे वैक्सीनेशन की जानकारी ली, स्वास्थ्य केंद्र में केवल दो ही संविदा डॉक्टर मिलने पर भी मंत्री ने नाराजगी व्यक्त की। वहां मौजूद एसीएमओ डॉ शाक्या को नारसन स्वास्थ्य केंद्र में व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के साथ ही रात्रि में आपातकालीन  सेवाएं भी उपलब्ध कराने के आदेश दिए। अनुपस्थित डॉक्टरों के खिलाफ भी कार्रवाई करने के आदेश एसीएमओ को दिए। उन्होंने कहा कि वह शीघ्र ही पुनः निरीक्षण करेंगें। उन्होंने कहा कि इस भयानक बीमारी पर काबू पाने के लिए सरकार प्रयासरत है इसलिए वह स्वयं जाकर व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। इसके बाद गन्ना मंत्री स्वामी यातिश्वरानन्द ने बहादरपुर जट गाँव में कोरोना एवं अन्य बीमारियो से अपनी जान गँवाने वाले लोगो के परिजनों से मिलकर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। गाँव में कोरोना की रोकथाम के लिए अधिकारियों को ठोस कदम उठाने के लिए सख्त निर्देश दिए। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष जयपाल चैहान, ऋषिपाल बालियान, गन्ना समिति लिब्बरहेड़ी चेयरमैन सुशील राठी, अपर उप जिलाधिकारी पूरण सिंह राणा, पुलिस क्षेत्राधिकारी पंकज गैरोला, इंस्पेक्टर मंगलौर यशपाल सिंह बिष्ट,योगेश कुमार, सोनू धीमान,कुलदीप भारद्वाज,राजीव वर्मा, विकास कुमार, पारुल कुमार आदि लोग उपस्थित रहे। बाद में गन्ना मंत्री ने लिब्बरहेड़ी गाँव का भी दौरा करते हुए वहाँ पर हो रही कोरोना टेस्टिंग के बारे में भी डॉक्टरों से जानकारी ली।


Comments