पांच हजार में आॅक्सीजन फ्लोमीटर बेच रहा कारोबारी गिरफ्तार

हरिद्वार। कोरोना महामारी के चलते उपजी विकट परिस्थितियों में जहां कुछ लोग प्रभावितों की मदद करने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं कुछ लोग कालाबाजारी कर अवैध रूप से मुनाफाखोरी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। कोरोना काल जैसे आपदा काल को सही मायनो में अवसर मान कर कुछ अवसर वादी लोग अति आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी कर रहे है ऐसा ही एक मामला कनखल थाने क्षेत्र में सामने आया जहाँ थाना कनखल पुलिस ने ऑक्सीजन फ्लो मीटर की कालाबाजारी करते हुए परीक्षित गोस्वामी नामक युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर देर रात एसआर मेडिसिटी अस्पताल जगजीतपुर के पास से ऑक्सीजन फ्लोमीटर की कालाबाजारी करते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है। एसएसपी हरिद्वार के आदेश अनुसार पुलिस द्वारा आवश्यक वस्तु एवं दवाओं की कालाबाजारी को रोकने के लिए बड़े स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है, सी ओ सिटी अजय प्रताप सिंह को सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति ऑक्सीजन फ्लो मीटर की कालाबाजारी कर रहा है, जिस पर कनखल थाने की एक पुलिस टीम गठित की गई जिस ने मुखबिर की सूचना पर परीक्षित गोस्वामी निवासी कार्तिकेय कुंज अपार्टमेंट कनखल को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आपदा अधिनियम के तहत मुकद्मा दर्ज कर लिया है। कनखल पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सीओ अभय प्रताप सिंह को आक्सीजन फ्लोमीटर की कालाबाजारी किए जाने की सूचना मिली थी। इस पर उन्होंने कनखल पुलिस को कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कनखल थाना प्रभारी कमल कुमार लुंठी के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने कार्रवाई करते हुए जगजीपुर स्थित एसआर मेडिसिटी अस्पताल के पास से आरोपी परीक्षित गोस्वामी पुत्र राजेन्द्र प्रसाद गोस्वामी निवासी कार्तिकेय कुंज अपार्टमेंट जगजीतपुर को बिना मार्का व बिना रेट लिखे आॅक्सीजन फ्लोमीटर बेचते हुए गिरफ्तार कर लिया। आरोपी एक आक्सीजन फ्लोमीटर 5 हजार में बेच रहा था। थाना प्रभारी कमल कुमार लुंठी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ धारा 420, आपदा प्रबंधन अधिनियम व महामारी अधिनियम के तहत मुकद्मा दर्ज किया गया है। पुलिस टीम में थाना अध्यक्ष कमल कुमार लुंठी, एसएसआई राजेंद्र सिंह रावत, एसआई विनय मोहन द्विवेदी, कांस्टेबल दीपक चैधरी आदि शामिल रहे।


Comments