कोरोना की तीसरी लहर से बेहतर ढंग से निपटने की तैयारियां हो चुकी है-तीरथ सिंह रावत

 मुख्यमंत्री ने कोविड अस्पतालों का किया निरीक्षण,व्यवस्थाओं पर जताया संतोष

हरिद्वार। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि जिस तरह कोरोना की दूसरी लहर से लड़ाई लड़ी गई, उससे भी बेहतर ढंग से तीसरी लहर से लड़ने के लिए तैयारी की गई है। जिला अस्पतालों के बाद अब सीएचसी में भी ऑक्सीजन प्लांट की लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड पर उपचार करने से अब कोई उपचार के लिए स्वीकृत अस्पताल मना नहीं कर सकता। हरिद्वार दौरे पर आए सीएम तीरथ सिंह रावत ने कोविड मरीजों के उपचार के लिए बनाए गए मेला और बाबा बर्फानी अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने भर्ती मरीजों से मुलाकात की और मरीजों की दिन रात सेवा करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों और स्टाफ की पीठ थपथपाई। शुक्रवार को तय कार्यक्रम के तहत तीरथ सिंह रावत हरिद्वार पहुंचे। कोविड अस्पतालों के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पीपीई किट पहनकर कोविड मरीजों से मिले तथा उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया तथा सन्तोष व्यक्त किया। उन्होंने पूरे मेडिकल स्टाफ के कार्य करने की शैली की प्रशंसा की। उन्होंने अन्य लोगों से भी सहयोग की अपील करते हुए कहा कि कोविड के खिलाफ लड़ाई को मिलकर जीतना होगा। सभी को गाइडलाइन का पूरा पालन करना होगा और टीकाकरण पर भी फोकस करना होगा। अस्पतालों का निरीक्षण के करने के बाद मुख्यमंत्री हरिद्वार में योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास के लिए मेला नियंत्रण भवन पहुंचे। जहां उन्होंने जिले के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यहां आकर उन्होंने जाना कि डॉक्टर नर्सिंग स्टाफ अन्य हॉस्पिटल का स्टाफ किस लगन से मरीजों की सेवा कर रहा है मरीजों को समय पर दवाइयां और भोजन मिल रहा है प्रदेश का कोरोना पॉजिटिव का ग्राफ गिरा है जिसे साफ है कि प्रदेश में लागू किया गया पुराना कर्फ्यू का असर होता दिख रहा है। सरकार सभी जिलाधिकारियों से आख्या मांग जा रही है जिसके आधार पर बाजार को खोले जाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। जैसा कि माना जा रहा है कि तीसरी लहरिया सकती है इसको लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह से तैयार है ना केवल शहरों में बल्कि गांव गांव तक लोगों को इलाज पहुंचाने के लिए सरकार पूर्ण तरह से तत्पर है मुख्यमंत्री ने प्रदेश में चार धाम यात्रा खोले जाने के संबंध में कहा कि हालांकि हमारे प्रदेश के कोरोना पॉजिटिव की संख्या में कमी आई है लेकिन बाहर से आने वाले यात्रियों की स्थिति को देखकर फिर कुछ फैसला लिया जाएगा जिसके लिए बैठक का कोई निर्णय ले जाने की संभावना है। मौके पर मौजूद पत्रकारों से वार्ता के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले में ऑक्सीजन, आईसीयु और वेंटीलेटर बेड महज डेढ़ महीने में नौ से दस गुना तक बढ़ा दिए हैं। आने वाली संभावित तीसरी लहर से निपटने की हमारी पूरी तैयारी है। तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला अस्पताल व सीएचसी में ऑक्सीजन प्लांट तो लगाए ही जा रहे हैं। कुछ जगह ऑक्सीजन प्लांट लग भी गए हैं। कुछ जगह और लगने वाले हैं। तीसरी लहर में संक्रमित होने वाले मरीजों के साथ एक अटेंडेंट के रुकने की व्यवस्था करने के साथ आसपास के होटलों में परिजनों के रुकने की व्यवस्था की जाएगी। तीरथ सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड पहला ऐसा प्रदेश है जहां आयुष्मान कार्ड से कोविड उपचार की व्यवस्था दी गई है। हालांकि कुछ जगहों से शिकायत मिली है कि निर्धारित अस्पताल आयुष्मान कार्ड को मना कर रहे हैं लेकिन अब ऐसा करने से कोई इनकार नहीं कर सकता। इसके लिए अधिकारियों को सख्त निर्देश जारी कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, गन्ना विकास राज्य मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, विधायक प्रदीप बत्रा, पुष्कर सिंह धामी, देशरात कर्णवाल के अलावा जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह चैहान सहित प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।


Comments