विश्व पर्यावरण दिवस मनाने का एकमात्र उद्देश्य है कि लोगों को इसके प्रति जागरूक करना

 

हरिद्वार। भारत विकास परिषद् मदांकिनी शाखा एवं मानव अधिकार संरक्षण समिति मुख्यालय हरिद्वार इं0 मधुसूदन आर्य के सानिध्य में वामप्रस्थ आश्रम ज्वालापुर हरिद्वार एवं जुर्स कन्ट्री सोसाइटी मे पेड़ लगवाये गये तथा जुर्स कन्ट्री में गोष्ठी आयोजित की गई। मधुसूदन आर्य सरंक्षक मदांकिनी शाखा ने कहा कि शुद्ध वायु जीवित रहने के साथ-साथ हमारे जीवन के लिए आवश्यक है। शुद्ध विश्व पर्यावरण दिवस मनाने का एकमात्र उद्देश्य है कि लोगों को इसके प्रति जागरूक करना। ताकि लोग ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण करें ना की पेड़ों की कटाई। जिस तरह से देश में विकास हो रहा है, कंस्ट्रक्शन किए जा रहे हैं उसके बदले कई पेड़ पौधे की कटाई बड़ी मात्रा में कर दी जा रही है। ऐसे में यह जीवनदायिनी पेड़-पौधे ही अगर नहीं रहेंगे तो हम या हमारी आने वाली पीढ़ी कैसे रहेगी। ऐसे में हमें एकजूट होकर इसे गंभीरता से लेना होगा। पेड़-पौधों में विशेषतौर पर पीपल, नीम लगाने चाहिए। परिषद् अध्यक्ष राजीव राय ने कहा कि पेड़ जहां प्रदूषण के भक्षक है। वही यह हमें आक्सीजन प्रदान करते है। सचिव जितेन्द्र कुमार शर्मा ने कहा बढ़ती जनसंख्या के कारण आवास की समस्या होने लगी है। मानव ने अपनी आवासीय पूर्ति के लिए वन क्षेत्रों और वृक्षों की भारी मात्रा में दोहन किया। अजय दुर्गा ने कहा कि सबको ज्यादा से ज्यादा पेड़ ज्यादा लगाने चाहिए। वर्चुएल गोष्ठी में आर.के. गर्ग विमल गर्ग, डा0 राजीव सैनी, डा0 अतर सिंह आर्य, डा0 प्रशान्त कुमार, डा0 मनीषा दीक्षित, अंकुर गोयल, सत्यवती आर्य, अन्नपूर्णा बन्धुनी, एडवोकेट विकास जैन, एडवोकेट गोपाल शर्मा, डा0 प्रेमप्रकाश श्रीवास्तव, मधुश्रीवास्तव, एडवोकेट संगीता भारद्वाज, विजय मुनि, अमित होम्योपेथिक विभाग, सुबोध गुप्ता आर्य इत्यादि उपस्थित रहे।


Comments