पृथ्वीराज चैहान की शौर्य गाथाओं का अधिकाधिक प्रचार किया जाना चाहिए

 

हरिद्वार। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा उत्तराखंड द्वारा सम्राट पृथ्वीराज चैहान की जयंती सूक्ष्म रूप से मनाई गई। महासभा के पदाधिकारियों व सदस्यों ने कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए पृथ्वीराज चैहान के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। गोविंदपुरी स्थित एडवांस मेडिकल क्लिनिक सेंटर पर आयोजित जयंती कार्यक्रम में मुख्य अतिथि महामंडलेश्वर स्वामी प्रबोधानंद गिरी महाराज रहे। इस दौरान दिवंगत पूर्व सभासद देवेंद्र मनवाल को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गयी। कोरोना महामारी के कारण जान गंवाने वाले लोगों की आत्मा की शांति के लिए भी प्रार्थना की गयी। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुंदर सिंह मनवाल और संचालन संस्था के महामंत्री हरीसिंह शेखावत ने किया। कार्यकारी अध्यक्ष डा.एचके सिंह ने कहा कि भारत वर्ष के अंतिम क्षत्रिय सम्राट, सनातम धर्म रक्षक, स्वाभिमान के प्रतीक, भारत मां के वीर पुत्र, क्षत्रिय कुल के गौरव पृथ्वीराज चैहान के जीवन से सभी को प्रेरणा मिलती है। स्वाभिमान के लिए लंबा संघर्ष करने वाले पृथ्वीराज ने विपरीत परिस्थितियों में भी कभी सिर नहीं झुकाया। उनकी शौर्य गाथाओं का अधिक से अधिक प्रचार किया जाना चाहिए। इस अवसर पर सुंदर सिंह मनवाल, हरी सिंह शेखावत, करणी सेना के मुख्य संरक्षक सुरेश राजपूत, गोविंद सिंह बिष्ट, तेज सिंह प्रधान, राजेंद्र सिंह रावत, एसएस राणा, सुरेश राजपूत, सुबोध चैहान, अनुज सिंह, राजकुमार, अजब सिंह चैहान, अशोक, डॉ एनएस राणा, बाबू सिंह शेखावत आदि उपस्थित रहे।


Comments