Skip to main content

जिलाधिकारी के निर्देश पर दो लैब व कम्पनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज,कई अन्य लैब पर शक

पुलिस की ओर से मामले की होगी उच्चस्तरीय जांच

 हरिद्वार। कुंभ मेला 2021 के दौरान कोविड जांच के नाम पर किए गए फजीवाड़े के मामले में नगर कोतवाली में एक कम्पनी तथा दो लैब के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी की तहरीर पर हरिद्वार कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।  सीएमओ हरिद्वार की तहरीर पर दर्ज किए गए मुकदमे में आरोपी कंपनी मैक्स कॉरपोरेट लिमिटेड और दो लैब डॉ लाल चंदानी और नलवा लैब्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। सीएमओ द्वारा दी गई तहरीर में इन कंपनी और लैब्स पर आरोप लगाए गए हैं कि इन आरोपी कम्पनी ने जांच के नाम पर फर्जीवाड़ा किया है और ऐसे लोगों की जांच भी की है जो हरिद्वार कुंभ में आए ही नहीं मगर उनके नाम पर जांच करके रिपोर्ट सबमिट की गई। हालांकि इस मामले में जिला प्रशासन और मेला प्रशासन द्वारा अलग-अलग स्तर पर जांच कराई जा रही है। मेला प्रशासन ने अपर मेला अधिकारी स्वास्थ्य की अध्यक्षता में एक 5 सदस्य समिति बनाकर अंदरूनी स्तर पर इस फर्जीवाड़े की जांच शुरू करा है। वहीं जिला प्रशासन ने सीडीओ डाॅ0सौरभ गहरवार की अध्यक्षता में 3 सदस्यीय कमेटी बनाकर जांच कराई जा रही है। दोनों ही समितियों को अलग अलग 15 दिन का समय दिया गया है। जिला प्रशासन द्वारा कराई गई जांच में प्रारंभिक तौर पर फर्जीवाड़ा होने के तथ्य मिले है,ं जिसके आधार पर जिला प्रशासन के निर्देश पर सीएमओ द्वारा हरिद्वार कोतवाली में तहरीर दी गई है। जिनमे एक कंपनी और दो लैब्स के नाम लिखा गया है। जिलाधिकारी ने मुकदमा दर्ज होने की पुष्टि की है और स्पेशल इन्वेस्टीगेशन के लिए पुलिस को भी निर्देशित किया है। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया है कि जांच में अगर कुछ अन्य धाराओं को भी मुकदमे में जोड़ने की आवश्यता हुई तो उनको जोड़ा जाएगा।           इस मामले में जिला अधिकारी सी रविशंकर का कहना है कि अब तक इंक्वायरी का जो प्रोसेस किया है उस आधार के साथ ही प्रारंभिक जांच जो पूर्व में हुई है उस आधार पर एफआईआर संबंधितों के खिलाफ दर्ज कर ली गयी है ,इसमें नगर कोतवाली स्टेशन में यह एफ आई आर दर्ज की गई है। ,फिलहाल उसमें मैक्स कारपोरेशन और उनके साथ जो एग्रीमेंट में दो लैब्स थे उनके खिलाफ अभी एफ आई आर दर्ज किया गया है। विस्तृत जांच अभी भी गतिमान है, क्योंकि काफी मात्रा में सैंपल्स का हमें परीक्षण करना पड़ा है इसलिए उसका टाइम 10 दिन कम से कम और लगेगा। जैसे ही डिटेल इंक्वायरी समाप्त होने के बाद भी इन केस अगर और कुछ फाइंडिंग निकलेगी तो उसके आधार पर उन धाराओं को भी उस एफ आई आर में जोड़ेंगे। ज्ञात रहे कि इस मामले में प्रारंभिक जांच देहरादून से भी हुई उसमें भी कुछ अनियमितताएं पुष्ट हुई थी कि एक ही लैब के माध्यम से लगभग एक लाख के आसपास टेस्ट करना प्रथम दृष्टया असंभव लगता है, क्योंकि टोटल कई लैब्स ने मिल कर के भी कुछ लाखों का टेस्ट किया, पर एक अकेला लैब द्वारा इतना करना भी पहली चीज असंभव है। मामले की जांच में पाया गया है कि उक्त आरोपी कम्पनी द्वारा एक ही मकान से कई केसेस होना और उन्होंने टेस्टिंग किया हुआ दिखाया है। दूसरा एक ही फोन नंबर से काफी मात्रा में लोगों का रजिस्ट्रेशन दिखाया गया है। इसमें जो नियम के अनुसार जो डाटा एंट्री वाला विषय भी है वह राजस्थान से किया हुआ प्रतीत हो रहा था। इस प्रकार से विभिन्न मुद्दे थे इसमें इतना कन्वेंशन था कि जरूर इररेगुलेरिटी हुआ है इसलिए इन्वेस्टिगेशन प्रोसेस जितना हो सकता है उतना इस केस के लिए अच्छा रहेगा। कहा कि मुकदमा दर्ज करने के साथ ही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम गठन करने के लिए भी निर्देश दिए गए है। मामले में एक आश्चर्यजनक बात यह है कि कंपनी के एड्रेस को लेकर इस प्रकार का कमियां थी उनके एड्रेस को लेकर के विरोधाभासी स्थिति निकल रही थी और आईसीएमआर अपग्रेडेशन इन पैनल मूवमेंट नही था। इस प्रकार से कई मुद्दे हैं तो यह सभी मुद्दों को देखने के बाद जब कन्विंसिंग लग रहा था केस में कि इस केस में तो जरूर इन्वेस्टिगेशन स्टार्ट होना चाहिए इसीलिए अभी इसमें मुकदमा दर्ज कर लिया है, डिटेल इंक्वायरी के बाद भी अगर कोई धारा जोड़ने की आवश्यकता हुई तो वह भी विचार होगा। भुगतान केवल इनके लिए नहीं बाकी लैब का भी रोक दिया गया है ताकि इसमें जो भी फैक्ट है सामने आएंगे उस आधार पर अग्रिम निर्णय हम लेंगे। फिलहाल वर्तमान में तो हम एक ही लैब की जांच कर रहे हैं इन केस इसी प्रकार का अगर कोई कंप्लेंट है या कोई इंफॉर्मेशन है या कोई ऐसा डाउट है तो वह भी हम लोग हम लोग रैंडम ली भी चेक करेंगे । जिलाधिकारी ने साफ किया कि जांच में सभी लैब्स की के ऊपर यह निगरानी तो रहेगी। वही एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस का कहना है कि अभी जो कुंभ मेले में हुई विसंगति के मामले में एक तहरीर सीएमओ ऑफिस के माध्यम से हमारे कोतवाली नगर को प्राप्त हुई है इसमें मुकदमा पंजीकृत कर के आवश्यक कार्रवाई कर रहे हैं इसमें एक कंपनी है मैक्स कॉरपोरेशन सर्विसेज कुंभ मेला और दो लैब्स है ,एक नलवा लैब्स हैं और  डॉक्टर लालचंदानी लैब यह दोनों के लैब के विरुद्ध और एक कंपनी के विरुद्ध तहरीर दिया गया, तहरीर में कहा गया है कि टेस्टिंग में विसंगति पाई गई है इसमें जो व्यक्ति यहां पर आया भी नहीं है उनके नाम से टेस्टिंग होने की बात कही गई है और कुछ एम्पलाई जो इनके द्वारा एम्पलाई कार्ड डाटा दिया गया है।  वे एम्पलाई इन के लिए कार्य नहीं करते इस टाइप के कुछ आरोप आए हैं इसके आधार पर एफआईआर कायम हो रही है और उसमें आवश्यक कार्रवाई कर रहे हैं हमारे पास सीएमओ के द्वारा एक लिखित तहरीर एफआईआर कायम करने के लिए हरिद्वार कोतवाली नगर को यह तहरीर प्राप्त हुई है।


Comments

Popular posts from this blog

गौ गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया

  हरिद्वार। कुंभ में पहली बार गौ सेवा संस्थान श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा राजस्थान की ओर से गौ महिमा को भारतीय जनमानस में स्थापित करने के लिए वेद लक्ष्णा गो गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया गया है।  महोत्सव का शुभारंभ उत्तराखंड गौ सेवा आयोग उपाध्यक्ष राजेंद्र अंथवाल, गो ऋषि दत्त शरणानंद, गोवत्स राधा कृष्ण, महंत रविंद्रानंद सरस्वती, ब्रह्म स्वरूप ब्रह्मचारी ने किया। महोत्सव के संबध में महंत रविंद्रानंद सरस्वती ने बताया कि इस महोत्सव का उद्देश्य गौ महिमा को भारतीय जनमानस में पुनः स्थापित करना है। गौ माता की रचना सृष्टि की रचना के साथ ही हुई थी, गोमूत्र एंटीबायोटिक होता है जो शरीर में प्रवेश करने वाले सभी प्रकार के हानिकारक विषाणुओ को समाप्त करता है, गो पंचगव्य का प्रयोग करने से शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, शरीर मजबूत होता है रोगों से लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में वैश्विक महामारी ने सभी को आतंकित किया है। परंतु जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है। कोरोना उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता है। उन्होंने गो पंचगव्य की विशेषताएं बताते हुए कहा कि वर्तमा

माता पिता की स्मृति में समाजसेवी राकेश विज ने किया अन्न क्षेत्र का शुभारंभ

हरिद्वार। समाजसेवी और हिमाचल प्रदेश प्रदेश के पालमपुर रोटरी क्लब के अध्यक्ष राकेश विज ने बताया कि महाकुंभ के अवसर पर श्रद्धालुओं की सुविधार्थ संत बाहुल्य क्षेत्र सप्त ऋषि आश्रम में अन्न क्षेत्र का शुभारंभ नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी के कर कमलों के द्वारा किया गया है। यह अन्न क्षेत्र पूरे कुंभ तक अनवरत रूप से चलेगा। उन्होंने बताया कि मानवता सबसे बड़ी पूजा है मानव धर्म ही हमें जोड़ता है। अन्नदान की परंपरा हमारी वैदिक परंपरा है। अन्न क्षेत्र का आयोजन उन्होंने अपनी माता त्रिशला रानी और पिता लाला बनारसी दास की स्मृति में कराया है। उन्होंने बताया कि गुरूद्वारा गुरू सिंह सभा में भी 7 मार्च से रोजाना लंगर का आयोजन किया जा रहा है। 14 मार्च से इच्छाधारी नाग मंदिर बीएचएल हरिद्वार में भी अन्न क्षेत्र शुरू किया जाएगा। इसके अलावा कनखल स्थित सती घाट के समीप निर्माणाधीन गुरु अमरदास गुरुद्वारे और एसएमएसडी इंटर कॉलेज में पंडित अमर नाथ की स्मृति में बनने वाले पुस्तकालय में भी सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि महापुरुषों के रास्ते पर चलकर ही हम देश को समृद्ध कर सकते है। इस अवसर पर सतपाल

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।