Skip to main content

युवाओं को औद्यानिकी एवं कृषि से जोड़कर उनकी ऊर्जा का सकारात्मक उपयोग किया जायेगा-सुबोध उनियाल

 तीन दिवसीय‘‘अन्र्तराष्ट्रीय मसाला एवं सब्जी महोत्सव का आयोजन

हरिद्वार। उत्तराखण्ड उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण के निदेशक डा0 हरमिन्दर सिंह बवेजा ने बताया कि‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अन्तर्गत मसाला एवं सब्जी उत्पादन को प्रोत्साहित करने हेतु पूर्णानन्द खेल मैदान, मुनिकीरेती, टिहरी गढ़वाल में तीन दिवसीय ‘‘अन्र्तराष्ट्रीय मसाला एवं सब्जी महोत्सव’’ का आयोजन किया गया है। मंगलवार को कार्यक्रम का शुभारम्भ कृषि मंत्री सुबोध उनियाल, पालिकाध्यक्ष मुनि की रेती रोशन रतूडी, विनोद कुकरेती, वीर सिंह रावत, वचन सिंह पौखरियाल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। इस मौके पर सुबोध उनियाल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 04 वर्ष 06 माह के कार्यकाल में कृषि एवं उद्यान के क्षेत्र में अब तक 100 से अधिक रिफार्म किये गये हैं। सरकार का मुख्य ध्यान प्रदेश में उत्पादित औद्यानिक एवं कृषि फसलों के उत्पादों को प्रसंस्कृत कर मूल्य संवर्धन के माध्यम से प्रदेश के कृषकांे को अधिकाधिक मूल्य प्रदान कराकर उनकी आर्थिकी को मजबूत किये जाने पर रहा है,‘‘संकल्प से सिद्धि’’ के अन्तर्गत कृषकों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य की पूर्ति की जा सके। कहा कि इस प्रकार प्रदेश के नौजवानों को औद्यानिकी एवं कृषि से जोड़कर उनकी ऊर्जा का सकारात्मक उपयोग किया जायेगा, जिससे प्रदेश के नौजवान स्वरोजगार की ओर उन्मुख होकर दूसरों को भी रोजगार दे सकेंगे एवं प्रदेश के नौजवानों को राजकीय सेवा से पृथक रोजगार का अवसर दृष्टिगत होगा।आवश्यकता है कि अन्य राज्यों की भाॅति उत्तराखण्ड के औद्यानिक एवं कृषि उत्पादों का ब्राण्ड विकसित किया जाय। क्योंकि उत्तराखण्ड के औद्यानिक एवं कृषि उत्पाद स्वतः हिमालययी औषधीय गुणों से परिपूर्ण होने के कारण प्राकृतिक रूप से जैविक होते हैं, जिनका प्रमाणिकरण कर कृषकों को उनके उत्पाद का अतिरिक्त मूल्य प्राप्त हो सकता है। इस क्षेत्र में भी उत्तराखण्ड जैविक उत्पाद परिषद एवं अन्य रेखीय संस्थाओं के माध्यम से प्रयास किये जा रहे हैं। मंत्री जी ने बताया कि भारत सरकार द्वारा शीघ्र ही औद्यानिकी के समग्र विकास हेतु स्पेशल पैकेज के रूप में रू0 2000.00 करोड़ एवं कृषि के क्षेत्र में रू0 1054.00 करोड़ का प्रस्ताव स्वीकृत किये जाने की कार्यवाही गतिमान है। कृषि मंत्री की ओर से घोषणा की कि कल उनके द्वारा फसल बीमा योजना में किसानों का प्रीमियम 2 प्रतिशत के स्थान पर 1 प्रतिशत किये जाने का निर्णय किया गया है। मंच पर जनपद टिहरी गढ़वाल के 04 एवं जनपद देहरादून के 02 किसानों को फसल बीमा योजना के अन्तर्गत क्षतिपूर्ति की धनराशि का चैक भी वितरित किया गया। कृषि एवं कृषक कल्याण अपर सचिव डा0 राम बिलास यादव ने बताया कि महोत्सव में विभिन्न अन्र्तराष्ट्रीय (रूस,आस्ट्रिया,अमेरिका,सिंगापुरइत्यादि)/राष्ट्रीय(उत्तरप्रदेश,हिमाचलप्रदेश,जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, केरल, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली आदि) व राज्य के प्रगतिशील मसाला एवं सब्जी उत्पादकों/कृषकों, विभिन्न शोध संस्थाओं, विश्वविद्यालयों के वैज्ञानिकों/विषय विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभाग कर मसाला एवं सब्जी की विभिन्न प्रजातियों के उत्पादन, प्रसंस्करण व पैकेजिंग में नवीनतम तकनीकी के सम्बन्ध में अपने अनुभव एवं ज्ञान से भौतिक रूप में तकनीक के माध्यम से प्रस्तुतिकरण कर लाभान्वित किया गया। प्रदेश के किसानों, औद्यानिकी से जुड़े उद्यमियों व संस्थानों द्वारा मसाला एवं सब्जी की विभिन्न प्रजातियों एवं मसाला एवं सब्जी के सजीव उत्पादों के साथ-साथ प्रसंस्कृत उत्पादों का सजीव प्रदर्शन भी किया गया। निदेशक डा0 हरमिन्दर सिंह बवेजा ने कृषि मंत्री सुबोध उनियाल का स्वागत करते हुए कहा कि मंत्री की प्रेरणा एवं कुशल निर्देशन के फलस्वरूप ही इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाना सम्भव हो पाया है। उनके कुशल नेतृत्व में उद्यान विभाग औद्यानिकी के क्षेत्र में आशातीत प्रगति की ओर अग्रसर है। कहा कि इस कार्यक्रम से प्रदेश के किसान राष्ट्रीय एवं अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर विकसित नवनीतम तकनीकों के सजीव प्रदर्शन एवं विषय विशेषज्ञों के प्रस्तुतिकरण से लाभ प्राप्त करते हुए प्रदेश में औद्यानिकी फसलों के उत्पादन में बढ़ोत्तरी प्राप्त करेंगे। प्रथम तकनीकी सत्र की अध्यक्षता डा0 परविन्दर कौशल, कुलपति, डा0 वाई0एस0पी0यू0एच0एफ0, सोलन, हिमाचल प्रदेश द्वारा की गयी। सत्र के दौरान डा0 एस0के0 मल्होत्रा, कृषि आयुक्त, कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा भारत में सब्जी एवं मसाला उत्पादन की सम्भावनायें विषय पर प्रस्तुतिकरण के माध्यम से विस्तृत रूप से प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम मंे सचिव, कृषि एवं कृषक कल्याण डा0 आर0 मीनाक्षी सुन्दरम, डा0 परमाराम, निदेशक, कृषि, उत्तराखण्ड,एस0के0 यादव, निदेशक रेशम, विनय कुमार, प्रबन्ध निदेशक, उत्तराखण्ड जैविक उत्पाद परिषद, सहित विभागीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।


Comments

Popular posts from this blog

गौ गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया

  हरिद्वार। कुंभ में पहली बार गौ सेवा संस्थान श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा राजस्थान की ओर से गौ महिमा को भारतीय जनमानस में स्थापित करने के लिए वेद लक्ष्णा गो गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया गया है।  महोत्सव का शुभारंभ उत्तराखंड गौ सेवा आयोग उपाध्यक्ष राजेंद्र अंथवाल, गो ऋषि दत्त शरणानंद, गोवत्स राधा कृष्ण, महंत रविंद्रानंद सरस्वती, ब्रह्म स्वरूप ब्रह्मचारी ने किया। महोत्सव के संबध में महंत रविंद्रानंद सरस्वती ने बताया कि इस महोत्सव का उद्देश्य गौ महिमा को भारतीय जनमानस में पुनः स्थापित करना है। गौ माता की रचना सृष्टि की रचना के साथ ही हुई थी, गोमूत्र एंटीबायोटिक होता है जो शरीर में प्रवेश करने वाले सभी प्रकार के हानिकारक विषाणुओ को समाप्त करता है, गो पंचगव्य का प्रयोग करने से शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, शरीर मजबूत होता है रोगों से लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में वैश्विक महामारी ने सभी को आतंकित किया है। परंतु जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है। कोरोना उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता है। उन्होंने गो पंचगव्य की विशेषताएं बताते हुए कहा कि वर्तमा

माता पिता की स्मृति में समाजसेवी राकेश विज ने किया अन्न क्षेत्र का शुभारंभ

हरिद्वार। समाजसेवी और हिमाचल प्रदेश प्रदेश के पालमपुर रोटरी क्लब के अध्यक्ष राकेश विज ने बताया कि महाकुंभ के अवसर पर श्रद्धालुओं की सुविधार्थ संत बाहुल्य क्षेत्र सप्त ऋषि आश्रम में अन्न क्षेत्र का शुभारंभ नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी के कर कमलों के द्वारा किया गया है। यह अन्न क्षेत्र पूरे कुंभ तक अनवरत रूप से चलेगा। उन्होंने बताया कि मानवता सबसे बड़ी पूजा है मानव धर्म ही हमें जोड़ता है। अन्नदान की परंपरा हमारी वैदिक परंपरा है। अन्न क्षेत्र का आयोजन उन्होंने अपनी माता त्रिशला रानी और पिता लाला बनारसी दास की स्मृति में कराया है। उन्होंने बताया कि गुरूद्वारा गुरू सिंह सभा में भी 7 मार्च से रोजाना लंगर का आयोजन किया जा रहा है। 14 मार्च से इच्छाधारी नाग मंदिर बीएचएल हरिद्वार में भी अन्न क्षेत्र शुरू किया जाएगा। इसके अलावा कनखल स्थित सती घाट के समीप निर्माणाधीन गुरु अमरदास गुरुद्वारे और एसएमएसडी इंटर कॉलेज में पंडित अमर नाथ की स्मृति में बनने वाले पुस्तकालय में भी सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि महापुरुषों के रास्ते पर चलकर ही हम देश को समृद्ध कर सकते है। इस अवसर पर सतपाल

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।