Skip to main content

नगर में धूमधाम से निकाला गया नगर कीर्तन,जगह जगह लोगों ने किया पुष्पवर्षा कर स्वागत

 हरिद्वार। सिक्ख धर्म के पहले गुरु गुरु नानक देव की 552 वीं जयंती के उपलक्ष्य में धूमधाम के साथ नगर कीर्तन निकाला गया। बीएचईएल से शुरू हुआ नगर कीर्तन ललतारो पुल स्थित गुरुद्वारा पहुंचकर संपन्न हुआ। जगह-जगह लोगों ने नगर कीर्तन का फूलों की बारिश से स्वागत किया। रविवार शाम को भेल स्थित गुरुद्वारा से नगर कीर्तन का शुभारंभ किया गया। नगर कीर्तन बीएचईएल से होते हुए भगत सिंह चैक, चंद्राचार्य चैक, ऋषिकुल, देवपुरा और रेलवे रोड, शिवमूर्ति चैक होते हुए ललतारो पुल के समीप स्थित गुरुद्वारा पहुंचकर संपन्न हुआ। गुरु ग्रंथ साहिब की पालकी के साथ पंज प्यारे अगुआई करते हुए चल रहे थे। नगर कीर्तन में पूरे रास्तेभर गतका पार्टी ने तलवार बाजी के साथ ही हैरतंगेज करतब दिखाकर लोगों को दांतों तले उंगली दबाने को मजबूर कर दिया। भाजयुमो के प्रदेश महामंत्री हरजीत सिंह ने नगर कीर्तन का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि यह पर्व समाज के हर व्यक्ति को साथ में रहने, खाने और मेहनत से कमाई करने का संदेश देता है। प्रकाश उत्सव के उपलक्ष्य में प्रभातफेरी भी निकाली जाती है। जिसमें भारी संख्या में संगतें भाग लेती हैं। कीर्तनी जत्थे कीर्तन कर संगत को निहाल करते हैं। इस दौरान मनमोहन सिंह, हरमोहन सिंह तनेजा, रिंपल सिंह, सुखदेव सिंह, बलवीर सिंह मल्होत्रा, जवाल सिंह सेठी, हरभजन सिंह, जसविंदर सिंह, विक्रम सिंह सिद्धू, दलजीत सिंह, हरप्रीत सिंह, रोबिन सिंह, गुरजीत सिंह, हर्षवर्धन सिंह, रुपिंदर सिंह आदि शामिल रहे


Comments

Popular posts from this blog

गौ गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया

  हरिद्वार। कुंभ में पहली बार गौ सेवा संस्थान श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा राजस्थान की ओर से गौ महिमा को भारतीय जनमानस में स्थापित करने के लिए वेद लक्ष्णा गो गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया गया है।  महोत्सव का शुभारंभ उत्तराखंड गौ सेवा आयोग उपाध्यक्ष राजेंद्र अंथवाल, गो ऋषि दत्त शरणानंद, गोवत्स राधा कृष्ण, महंत रविंद्रानंद सरस्वती, ब्रह्म स्वरूप ब्रह्मचारी ने किया। महोत्सव के संबध में महंत रविंद्रानंद सरस्वती ने बताया कि इस महोत्सव का उद्देश्य गौ महिमा को भारतीय जनमानस में पुनः स्थापित करना है। गौ माता की रचना सृष्टि की रचना के साथ ही हुई थी, गोमूत्र एंटीबायोटिक होता है जो शरीर में प्रवेश करने वाले सभी प्रकार के हानिकारक विषाणुओ को समाप्त करता है, गो पंचगव्य का प्रयोग करने से शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, शरीर मजबूत होता है रोगों से लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में वैश्विक महामारी ने सभी को आतंकित किया है। परंतु जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है। कोरोना उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता है। उन्होंने गो पंचगव्य की विशेषताएं बताते हुए कहा कि वर्तमा

माता पिता की स्मृति में समाजसेवी राकेश विज ने किया अन्न क्षेत्र का शुभारंभ

हरिद्वार। समाजसेवी और हिमाचल प्रदेश प्रदेश के पालमपुर रोटरी क्लब के अध्यक्ष राकेश विज ने बताया कि महाकुंभ के अवसर पर श्रद्धालुओं की सुविधार्थ संत बाहुल्य क्षेत्र सप्त ऋषि आश्रम में अन्न क्षेत्र का शुभारंभ नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी के कर कमलों के द्वारा किया गया है। यह अन्न क्षेत्र पूरे कुंभ तक अनवरत रूप से चलेगा। उन्होंने बताया कि मानवता सबसे बड़ी पूजा है मानव धर्म ही हमें जोड़ता है। अन्नदान की परंपरा हमारी वैदिक परंपरा है। अन्न क्षेत्र का आयोजन उन्होंने अपनी माता त्रिशला रानी और पिता लाला बनारसी दास की स्मृति में कराया है। उन्होंने बताया कि गुरूद्वारा गुरू सिंह सभा में भी 7 मार्च से रोजाना लंगर का आयोजन किया जा रहा है। 14 मार्च से इच्छाधारी नाग मंदिर बीएचएल हरिद्वार में भी अन्न क्षेत्र शुरू किया जाएगा। इसके अलावा कनखल स्थित सती घाट के समीप निर्माणाधीन गुरु अमरदास गुरुद्वारे और एसएमएसडी इंटर कॉलेज में पंडित अमर नाथ की स्मृति में बनने वाले पुस्तकालय में भी सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि महापुरुषों के रास्ते पर चलकर ही हम देश को समृद्ध कर सकते है। इस अवसर पर सतपाल

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।