Skip to main content

हरिद्वार के वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार डा.कमलकांत बुधकर का निधन


 हरिद्वार। वरिष्ठ पत्रकार एवं गुकाविवि के प्राध्यापक डाॅ0 कमल कांत बुधकर का पूरे गमगीन माहौल में खड़खड़ी श्मशान घाट में अन्तिम संस्कार कर दिया गया। मुखाग्नि उनके ज्येष्ठ सौरभ बुधकर ने दी। इस दौरान नगर के कई गणमान्य लोगों,नेताओं,पत्रकारों के अलावा उनके परिवार के लोग मौजूद रहे।इससे पूर्व रविवार को सुबह वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार डा.कमलकांत बुधकर का निधन हो गया। पिछले काफी लंबे समय से बीमार चल रहे 72 वर्षीय डा.बुधकर ने सवेरे करीब सात बजे अंतिम सांस ली। उनके निधन की खबर सुनते ही पत्रकारिता जगत में शोक की लहर है। शहर की विभिन्न धार्मिक, आध्यात्मिक व्यापारिक, सामाजिक संस्थाओं से जुड़े लोगों ने उनके निधन पर शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। रविवार को ही शाम चार बजे खड़खड़ी शमशान घाट पर स्व0बुधकर के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार किया गया। उनके बड़े पुत्र सौरभ बुधकर ने उन्हें मुखाग्नि दी। अंतिम संस्कार के दौरान तमाम पत्रकार व पूर्व मेयर मनोज गर्ग, पूर्व पालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डाॅ0 संजय पालीवाल,गंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ, पूर्व राज्यमंत्री विमल कुमार सहित राजनीति व समाजसेवा से जुड़े अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे। हरिद्वार प्रैस क्लब के संस्थापकों में शामिल रहे वरिष्ठ पत्रकार व साहित्यकार डा.कमलकांत बुधकर प्रेस क्लब के सस्थापक महासचिव एवं अध्यक्ष भी रहे हैं। गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में पत्रकारिता विभाग में डा.बुधकर के सानिध्य में हरिद्वार के दर्जनों पत्रकारों ने पत्रकारिता का ककहरा सीखा। वरिष्ठ पत्रकार कौशल सिखोला, एसएस जायसवाल, रतनमणि डोभाल, गोपाल रावत, सुनील दत्त पांडे, रामचंद्र कन्नौजिया, विक्रम छाछर, प्रैस क्लब अध्यक्ष राजेंद्रनाथ गोस्वामी, महामंत्री राजकुमार, प्रैस क्लब के पूर्व अध्यक्ष राजेश शर्मा, प्रवीण झा, दीपक नौटियाल, श्रवण झा, संजय रावल, अविक्षित रमन, अनिरूद्ध भाटी, अमित गुप्ता, राहुल वर्मा, संजय आर्य, मुदित अग्रवाल, अमरीश कुमार, तनवीर अली, योगेश योगी, परविन्दर कुमार, योगेद्र चौहान, शाहनवाज, राहत अंसारी, धर्मेन्द्र चैधरी, विकास झा, नरेश गुप्ता, विकास चैहान, शिवा अग्रवाल, रविन्द्र सिंह, लव शर्मा, मुकेश वर्मा, राजकुमार पाल आदि सहित तमाम पत्रकारों ने डा.बुधकर के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। उत्तराखंड ही नही देश के जाने माने वरिष्ठ पत्रकारो में शामिल में डा.कमलकांत बुधकर ने धर्मयुग, हिन्दुस्तान जैसी पत्र पत्रिकाओं से पत्रकारिता की शुरूआत की और लंबे समय तक नवभारत टाइम्स के हरिद्वार प्रभारी रहे। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में उनकी रचनाएं प्रकाशित होती रही हैं। 19 जनवरी 1950 को हरिद्वार में मराठी परिवार में जन्मे डा.कमलकांत बुधकर ने कई महाविद्यालयों में प्राध्यापक के रूप में कार्य किया। गुरूकुल कांगड़ी विवि के हिंदी विभाग में तैनाती के दौरान पत्रकारिता विभाग में भी कार्यरत रहे। अ.भा. तरुण संघ देहरादून द्वारा तरुणश्री की उपाधि से सम्मानित डा.कमलकांत बुधकर को सहारनपुर की प्रतिबिम्ब, हरिद्वार की जैन मिलन और यूपी के गंगोह, आदि की संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया गया। प्रभु प्रेमी संघ अम्बाला द्वारा 1995 का ज्ञानभारती सम्मान के अलावा सुधांशु जी की संस्था द्वारा सद्ज्ञान सम्मान तथा 2007 में अयोध्या में उन्हें श्री रामकिंकर सम्मान से भी सम्मानित किया गया। मशहूर फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन के मित्रों में शामिल डा.बुधकर ने कई पुस्तकों का लेखन भी किया है। जिनमें उनकी पाती अपनी थाती 2004 (पत्रों के बहाने बच्चन की याद) नवभारत टाइम्स, नई दिल्ली। कतार कन्दीलों की 2004, (काव्यसंकलन) आयास प्रकाशन, हरिद्वार। पुनि जहाज पै आवै डा.इन्दुप्रकाश पाण्डेय सम्मानग्रंथ, आयास प्रकाशन, हरिद्वार। हरिद्वार  गंगाद्वारे महातीर्थे, 1992, प्रकाशक हरिद्वार विकास प्राधिकरण, हरिद्वार। बातें.मुलाकाते (साक्षात्कार संकलन), 1974 प्रकाशक गुरुकुल कांगड़ी विवि हरिद्वार। अक्षर अर्पण (डॉ॰प्रभाकर.माचवे सम्मानग्रंथ), 1974 आयास प्रकाशन, हरिद्वार। एक आयास अनायास (काव्य संकलन), 1974 आयास प्रकाशन, हरिद्वार। कुम्भनगर हरिद्वार (हिन्दी), 1986 प्रकाशक सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग,उ.प्र.।कुम्भनगर हरिद्वार (अंग्रेजी), 1986 प्रकाशक सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, उ.प्र.। अद्र्वकुम्भ. 1992 हरिद्वार, प्रकाशक उ.प्र. पर्यटन विभाग लखनऊ। मै हरिद्वार बोल रहा हूं, 2010, हिन्दी साहित्य निकेतन यूपी प्रमुख हैं। वही जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने प्रेस क्लब हरिद्वार के संस्थापक महासचिव एवं नेशनलिस्ट यूनियन आफ जर्नलिस्ट के पूर्व जिलाध्यक्ष, वरिष्ठ पत्रकार, लेखक, कवि, साहित्यकार डाॅ0 कमलकान्त बुधकर के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।जिलाधिकारी ने शोक संतप्त परिजनों को इस दारूण दुःख को सहन करने की शक्ति व धैर्य प्रदान करने तथा दिवंगत आत्मा की शान्ति के लिये ईश्वर से प्रार्थना की है। 


Comments

Popular posts from this blog

गौ गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया

  हरिद्वार। कुंभ में पहली बार गौ सेवा संस्थान श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा राजस्थान की ओर से गौ महिमा को भारतीय जनमानस में स्थापित करने के लिए वेद लक्ष्णा गो गंगा कृपा कल्याण महोत्सव का आयोजन किया गया है।  महोत्सव का शुभारंभ उत्तराखंड गौ सेवा आयोग उपाध्यक्ष राजेंद्र अंथवाल, गो ऋषि दत्त शरणानंद, गोवत्स राधा कृष्ण, महंत रविंद्रानंद सरस्वती, ब्रह्म स्वरूप ब्रह्मचारी ने किया। महोत्सव के संबध में महंत रविंद्रानंद सरस्वती ने बताया कि इस महोत्सव का उद्देश्य गौ महिमा को भारतीय जनमानस में पुनः स्थापित करना है। गौ माता की रचना सृष्टि की रचना के साथ ही हुई थी, गोमूत्र एंटीबायोटिक होता है जो शरीर में प्रवेश करने वाले सभी प्रकार के हानिकारक विषाणुओ को समाप्त करता है, गो पंचगव्य का प्रयोग करने से शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, शरीर मजबूत होता है रोगों से लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में वैश्विक महामारी ने सभी को आतंकित किया है। परंतु जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है। कोरोना उनका कुछ नहीं बिगाड़ पाता है। उन्होंने गो पंचगव्य की विशेषताएं बताते हुए कहा कि वर्तमा

माता पिता की स्मृति में समाजसेवी राकेश विज ने किया अन्न क्षेत्र का शुभारंभ

हरिद्वार। समाजसेवी और हिमाचल प्रदेश प्रदेश के पालमपुर रोटरी क्लब के अध्यक्ष राकेश विज ने बताया कि महाकुंभ के अवसर पर श्रद्धालुओं की सुविधार्थ संत बाहुल्य क्षेत्र सप्त ऋषि आश्रम में अन्न क्षेत्र का शुभारंभ नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी के कर कमलों के द्वारा किया गया है। यह अन्न क्षेत्र पूरे कुंभ तक अनवरत रूप से चलेगा। उन्होंने बताया कि मानवता सबसे बड़ी पूजा है मानव धर्म ही हमें जोड़ता है। अन्नदान की परंपरा हमारी वैदिक परंपरा है। अन्न क्षेत्र का आयोजन उन्होंने अपनी माता त्रिशला रानी और पिता लाला बनारसी दास की स्मृति में कराया है। उन्होंने बताया कि गुरूद्वारा गुरू सिंह सभा में भी 7 मार्च से रोजाना लंगर का आयोजन किया जा रहा है। 14 मार्च से इच्छाधारी नाग मंदिर बीएचएल हरिद्वार में भी अन्न क्षेत्र शुरू किया जाएगा। इसके अलावा कनखल स्थित सती घाट के समीप निर्माणाधीन गुरु अमरदास गुरुद्वारे और एसएमएसडी इंटर कॉलेज में पंडित अमर नाथ की स्मृति में बनने वाले पुस्तकालय में भी सहयोग प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि महापुरुषों के रास्ते पर चलकर ही हम देश को समृद्ध कर सकते है। इस अवसर पर सतपाल

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।