Skip to main content

चार साल तक आयोग का सफल संचालन करने वाले मेजर जनरल आनन्द सिंह (से.नि.) सेवानिवृतक


 हरिद्वार। उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष मेजर जनरल आनन्द सिंह (से.नि.) वाई.एस.एम.,एस.एम.,वी.एस.एम अपना लगभग 04 वर्षो का सफल एवं उपलब्धियों भरा कार्यकाल पूर्णकर 23 दिसम्बर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। मेजर जनरल आनन्द सिंह (से.नि.) का जन्म उत्तराखण्ड राज्य के टिहरी गढ़वाल जिले में दूरस्थ गांव में हुआ था। प्रारभ्भिक शिक्षा प्रतिष्ठित स्कूल ओक ग्रेव स्कूल, मसूरी  से हासिल की तथा विज्ञान में मास्टर डिग्री मद्रास विश्वविद्यालय तथा एम.फिल डिग्री डी.ए.वी. इन्दौर से प्राप्त की। सी.डी.एस. के माध्यम से चयनित होने के फलस्वरूप आई.एम.ए. देहरादून से प्रशिक्षण प्राप्त किया तथा भारतीय सेना की ख्याति प्राप्त सिक्ख लाईट इन्फेंटरी रेजीमेंट के कमीशन्ड हुए। सेना में लगभग 36 वर्षो की सेवा के दौरान अनेक महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया। मेजर जनरल रावत की विशिष्ट सेवाओं एवं कार्य प्रतिबद्धता को देखते हुए इन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा युद्ध सेवा मेडल, सेना मेडल, विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया। उक्त के अतिरिक्त संयुक्त राष्ट्र का कमन्डेशन कार्ड सहित अनेक पदक हासिल हुए। विभिन्न परीक्षाओं एवं चयन प्रक्रियाओं से जुड़ी कई जटिलताओं तथा वैश्विक महामारी ‘कोविड‘ के दृष्टिगत लगे अनेक प्रतिबंधो के बावजूद, मेजर जनरल रावत के कुशल नेतृत्व में आयोग द्वारा एक टीम के रूप में सभी चुनौतियों का डटकर सामना किया गया और अपने दृढ़-संकल्प एवं नवाचार के माध्यम से निर्धारित लक्ष्यों को सफलतापूर्वक हासिल किया गया। मेजर जनरल रावत एक अनुशासन प्रिय, नवाचारी, सकारात्मक सोच तथा सफल नियोजक जैसी अनेक गुणों के धनी है, जिसका यह सुखद परिणाम रहा कि उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग देश का अग्रणी आयोग के रूप में उभरा। अध्यक्ष के रूप में मेजर जनरल रावत के कार्यकाल के दौरान उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग में कई महत्वपूर्ण कार्य किये गये है, जिनमें विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रमों, प्रश्नपत्रों,को गोपनीय एवं सारगर्भित तरीके से तैयार कराने हेतु विषय-विशेषज्ञों की सुविधार्थ विशाल पुस्कालय का निर्माण एवं उपयोग किया जाना प्रारम्भ हुआ। इसी प्रकार कम्प्यूटर सम्बंधित प्रायोगिक ज्ञान की परीक्षाओं को आयोग परिसर में ही सुविधापूर्वक संचालन किये जाने हेतु ‘‘ज्ञानोदय‘‘कम्प्यूटर लैब को कुशलतापूर्वक संचालित किया जाना सम्भव हो सका है। उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग में माह जनवरी, 2018 में आयोग के अध्यक्ष के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के पश्चात कई महत्वपूर्ण आयामों की शुरूआत की। उल्लेखनीय है कि आपकी दूरदशर््िाता और प्रभावी कार्यशैली के कारण आपको समस्त राज्य लोक सेवा आयोगें की स्थाई समिति के सदस्य के रूप में नामित किया गया, जो उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग ही नहीं अपितु उत्तराखण्ड राज्य के लिए गर्व एवं हर्ष का विषय है। 


Comments

Popular posts from this blog

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए

स्वामी नारायण आश्रम में गुरु पूर्णिमा पर्व की तैयारियां शुरू

  हरिद्वार। सिदाश्रम साधक परिवार (निखिल मंत्र विज्ञान) के तत्वावधान में भूपतवाला स्थित स्वामी नारायण आश्रम में 12 एवं 13 जुलाई को गुरु पूर्णिमा महोत्सव का विशाल आयोजन किया जाएगा। परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंद (डा.नारायण दत्त श्रीमाली) व माता भगवती की दिव्य छत्र-छाया एवं पूज्य गुरुदेव नंदकिशोर श्रीमाली के सानिध्य में आयोजित किए जा रहे दो-दिवसीय महोत्सव की तैयारियों को लेकर मंगलवार को आश्रम में निखिल मंत्र विज्ञान के संयोजक मनोज भारद्वाज की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गुरू पूर्णिमा महोत्सव की तैयारियों पर चर्चा की गयी। बैठक में कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी विजय कुमार झा,गोपाल सैनी, डा.एम.के.तिवारी,शैलेन्द्र शैली,राकेश गुप्ता,नागेन्द्र सिंह,अमर उपाध्याय,लोकेश,बलवान सैनी आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए। मनोज भारद्वाज ने बताया कि गुरु पूर्णिमा शिष्य और गुरु के मिलन का समारोह है। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर शिष्य अपने पूज्य गुरुदेव के श्रीचरणों में अपना मनोभाव समर्पित करते हैं। उन्होंने बताया कि दो दिवसीय समारोह में देश-विदेश से हजारों की संख्या में आने वाले निखिल शिष्यों का समागम होगा। महोत्सव को