Skip to main content

प्रकृति से हस्तक्षेप का परिणाम मानव के हित में न कभी रहा है और ना कभी रहेगा-डाॅ0जोशी

 हरिद्वार। पद्मभूषण एवं पद्मश्री डॉ. अनिल जोशी ने कहा कि आज महती आवश्यकता है कि गुरुकुल विश्वविद्यालय के आचार्य वेद की रचनाओं का वैज्ञानिक दृष्टिकोण समाज के सामने प्रस्तुत कर उसका मार्गदर्शन करें। यह बात उन्होंने गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के पर्यावरण विभाग में आयोजित राष्ट्रीय विज्ञान दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही। डॉ. जोशी ने कहा कि कोरोना महामारी ने मनुष्य को उसकी हैसियत अच्छी तरह से समझा दी है। कोरोना जैसे दिखाई ना देने वाले वायरस ने पूरे विश्व की मेडिकल एवं तकनीकी व्यवस्था को यह बता दिया है कि प्रकृति से हस्तक्षेप का परिणाम मानव के हित में न कभी रहा है और ना कभी रहेगा। हमें अविलंब प्रकृति और उसके घटकों के महत्व को समझते हुए प्रकृति के साथ समन्वय स्थापित करना होगा। कुलपति प्रोफेसर रूप किशोर शास्त्री ने कहा कि प्रकृति का दोहन बुरा नहीं होता अपितु उसका शोषण अनुचित एवं अक्षम्य होता है। इसलिए हमें सतत विकास की मूल अवधारणा को मस्तिष्क में रखकर विकास की योजनाएं बनानी चाहिए। संयोजक एवं अंतर्राष्ट्रीय पक्षी वैज्ञानिक प्रो. दिनेश भट्ट ने कहा कि आज देश को सच्चे वैज्ञानिकों की बहुत आवश्यकता है। ऐसे वैज्ञानिक जो मानवता एवं प्रकृति के हित में शोध करें। मुख्य वक्ता और उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के पक्षी वैज्ञानिक डॉ विनय सेठी ने विज्ञान से संवाद विषय पर अपना पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन दिया। डॉक्टर सेठी ने बताया कि विज्ञान की यात्रा के लिए हमारे भीतर धैर्य, तटस्थता, सत्यता एवं निरंतरता का होना अत्यंत आवश्यक है। उत्तराखंड स्पेस एप्लीकेशन सेंटर के वैज्ञानिक डॉ.गजेंद्र रावत ने रिमोट सेंसिंग एवं जीआईएस प्रवृत्तियों पर प्रकाश डाला। डॉ रावत ने तेजी से हो रहे भू प्रयोग परिवर्तन पर चिंता व्यक्त की और कहा कि मानव को प्रकृति के शोषण से बचना चाहिए। जंतु एवं पर्यावरण विज्ञान के विभागाध्यक्ष प्रो. देवेंद्र मलिक ने प्रतिभागियों एवं अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में प्रो. पुरुषोत्तम कौशिक, प्रो. नमिता जोशी, डॉ. संगीता मदान, डॉ. विनोद, डॉ. गगन माता, डॉ. संदीप, राजीव त्यागी, हेमा पटेल, हरीश भदोला, मनोहर पंचोली, अजय कुमार आदि शामिल रहे।


Comments

Popular posts from this blog

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए

स्वामी नारायण आश्रम में गुरु पूर्णिमा पर्व की तैयारियां शुरू

  हरिद्वार। सिदाश्रम साधक परिवार (निखिल मंत्र विज्ञान) के तत्वावधान में भूपतवाला स्थित स्वामी नारायण आश्रम में 12 एवं 13 जुलाई को गुरु पूर्णिमा महोत्सव का विशाल आयोजन किया जाएगा। परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंद (डा.नारायण दत्त श्रीमाली) व माता भगवती की दिव्य छत्र-छाया एवं पूज्य गुरुदेव नंदकिशोर श्रीमाली के सानिध्य में आयोजित किए जा रहे दो-दिवसीय महोत्सव की तैयारियों को लेकर मंगलवार को आश्रम में निखिल मंत्र विज्ञान के संयोजक मनोज भारद्वाज की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गुरू पूर्णिमा महोत्सव की तैयारियों पर चर्चा की गयी। बैठक में कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी विजय कुमार झा,गोपाल सैनी, डा.एम.के.तिवारी,शैलेन्द्र शैली,राकेश गुप्ता,नागेन्द्र सिंह,अमर उपाध्याय,लोकेश,बलवान सैनी आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए। मनोज भारद्वाज ने बताया कि गुरु पूर्णिमा शिष्य और गुरु के मिलन का समारोह है। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर शिष्य अपने पूज्य गुरुदेव के श्रीचरणों में अपना मनोभाव समर्पित करते हैं। उन्होंने बताया कि दो दिवसीय समारोह में देश-विदेश से हजारों की संख्या में आने वाले निखिल शिष्यों का समागम होगा। महोत्सव को