Skip to main content

किसी भी योजना पर होने वाले व्यय का विवरण तैयार करना सुनिश्चित करे-पीयूष गोयल

 केन्द्रीय मंत्री ने जनपद मे जारी योजनाओं की समीक्षा,शिकायत को लेकर दिए निर्देश


हरिद्वार। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल आकंाक्षी जनपद की समीक्षा बैठक में मुद्रा लोन योजना और खाद्यान्न वितरण प्रणाली को लेकर केंद्रीय मंत्री ने नाराजगी जताई। उन्होंने साफ कहा कि जवाब संतोषजनक नहीं हैं। ऐसे में अगर शिकायत मिलती है तो कार्रवाई सुनिश्चित है। बैठक में रानीपुर विधायक आदेश चैहान ने राशन वितरण प्रणाली पर सवाल उठाए। इस पर पीयूष गोयल ने कहा कि राशन वितरण में धांधलीबाजी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने विधायक से कहा कि ऐसे मामले में लिखित शिकायत दें। आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग तथा कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने निर्देश दिये कि जिस किसी भी योजना पर खर्चा हो रहा हैं, उसका पूरा विवरण दर्शाते हुये एक बोर्ड तैयार करना सुनिश्चित करें, जिसमें योजना की लागत आदि का पूरा विवरण होना चाहिये। उन्होंने कहा कि इससे व्यवस्था में पारदर्शिता आयेगी। केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल बुधवार को मेला नियंत्रण भवन(सीसीआर) में आकांक्षी जनपद के परिप्रेक्ष्य में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक कर रहे थे। बैठक में सांसद डॉ0 रमेश पोखरियाल ’निशंक’, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक सहित जनपद के भाजपा विधायक मौजूद रहे। बैठक में जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने बताया कि देश के 112 जिले आकांक्षी जनपद के रूप में चिह्नित किये गये थे, जिनमें से हरिद्वार भी एक है। आकांक्षी जनपद में स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, वित्तीय समावेशन, आधारभूत संरचना आदि पर विशेष ध्यान देते हुये जनपद को विकसित जिले के रूप में स्थापित करना मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने बताया कि इन क्षेत्रों में जनपद में विगत अवधि में काफी प्रगति हुई है। केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल को बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार एवं अन्य अधिकारियों ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से हरिद्वार जनपद का क्षेत्रफल, जनसंख्या, वनों का क्षेत्र, तहसील, विकासखण्ड, ग्राम पंचायतें, न्याय पंचायतें आदि के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग को वर्ष 2021-22 की जिला योजना के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये अधिकारियों ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत गैण्डीखाता में चिकित्सालय का निर्माण, वैडमिण्टन कोर्ट बनाया जाना, रोशनाबाद में ई-सभागार का निर्माण, बहादराबाद विकास खण्ड में इण्टर लाकिंग का कार्य किया गया तथा केन्द्र पोषित योजना के अन्तर्गत ओवरहैड टेंकों का निर्माण कराया गया। अधिकारियों ने केन्द्रीय मंत्री को बताया कि जनपद को नीति आयोग का हमेशा सहयोग प्राप्त होता रहा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य क्षेत्र में जनपद के रूड़की, सलेमपुर सहित तीन अस्पतालों को अच्छी सेवाओं के लिये पुरस्कृत किया गया। शिक्षा क्षेत्र का उल्लेख करते हुये अधिकारियों ने बताया कि स्कूलों में शत-प्रतिशत शौचालयों का निर्माण हो चुका है, छात्र-अध्यापक प्रतिशत भी बढ़ा है, कई स्कूलों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्थायें सुनिश्चित की गयी, सीसीआर मद से कई स्कूलों में अवस्थापना सुविधाओं का विकास किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि जिला योजना का 20 प्रतिशत बजट शिक्षा पर खर्च किया जा रहा है। बैठक में जिला पूर्ति अधिकारी ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, अन्त्योदय योजना, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्य योजना आदि के सम्बन्ध में केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री को विस्तृत जानकारी दी। केन्द्रीय मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि यह अत्यन्त महत्वूर्ण विषय है। उन्होंने कहा कि अनाज घर-घर पहुंचे यह हम सबकी चिन्ता होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि इसका लाभ लाभार्थी को अवश्य होना चाहिये। अगर कहीं पर राशन आदि के सम्बन्ध में कोई शिकायत आती है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वन नेशन वन राशन कार्ड के सम्बन्ध में विस्तृत प्रचार प्रसार करें। केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग ने पुरस्कारों का जिक्र करते हुये कहा कि जो अच्छा कार्य करते हैं, उन्हें पुरस्कृत किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि इससे एक उत्साह का वातावरण तैयार होने के साथ ही प्रतिस्पर्धा की वजह से अन्य लोग भी अच्छा कार्य करने के लिये प्रेरित होते हैं। इससे पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने सीसीआर परिसर में लगाये गये एक जिला एक उत्पाद, प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना, समाज कल्याण विभाग, सर्व समाज समिति, पशुपालन विभाग, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, दीन दयाल अन्त्योदय योजना, आदर्श महिला स्वयं सहायता समूह आदि द्वारा लगाये गये स्टॉलों का निरीक्षण किया तथा उनकी प्रशसा की। बैठक मे विधायक प्रदीप बत्रा,आदेश चैहान, इंजी. रवि बहादुर, सुश्री अनुपमा रावत, भाजपा प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ0 जयपाल सिंह चैहान, जिला महामंत्री विकास तिवारी, जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ0 योगेन्द्र सिंह रावत, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी बीर सिंह बुदियाल, एस0डी0एम0 पूरन सिंह राणा, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 कुमार खगेन्द्र, रेडक्रास सचिव डॉ0 नरेश चैधरी, सहित सम्बन्धित पदाधिकारीगण एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए

आंदोलनकारियों की शहादत का परिणाम है उत्तराखंड राज्य--डॉ० अंजान

  हरिद्वार। 2 अक्टूबर का दिन पूरे देश में अहिंसा और शांति दिवस के रूप में मनाया जाता है। और उत्तराखंड तो स्वयं शांति, समन्वय, समरसता एवं अहिंसा का द्योतक ही रहा है। उत्तराखंड राज्य के इतिहास के बारे में डॉक्टर हरिनारायण जोशी ने बताया कि आज के ही दिन 2 अक्टूबर 1994 में शांति और अहिंसा का अर्थ ही बदल गया। क्रुरता, हिंसा और अमानवीयता की सारी सीमाएं पार हो गईं। शांति के साथ राज्य प्राप्ति की मांग मनवाने के लिए उत्तराखंड के विभिन्न भागों से अपनी राजधानी दिल्ली जाते हुए निहत्थे आंदोलनकारी थे बस यही कसूर था उनका कि उत्तराखंड राज्य की मांग।और यूपी सरकार की ऐसी व्यवस्था थी कि जिसने सुरक्षा देनी थी, महिलाओं को ही नहीं, पुरुषों को भी वही भक्षक के रूप में क्रुरतम हिंसा और अमानवियता की पराकाष्ठाओं को हिंसात्मक रूप देने में सम्मिलित हो गये। उस समय सरकार की मानवीयता छलनी हो गई। रामपुर तिराहे के लहराते खेत और वहां की संपूर्ण प्रकृति असहाय महिला और पुरुषों की कराहों के साथ चित्कार कर उठी होगी। लेकिन तथाकथित रक्षकों पर प्रभाव नहीं पड़ा। उनकी संवेदनाएं और मानवतायें भस्म हो गई और वे दैत्य स्वरूप के संवाहक