Skip to main content

सनातन की रक्षा के लिये ठोस रणनीति बनाने का संतो से करेंगे आग्रह-यति नरसिंहानंद

 


हरिद्वार। उत्तरी हरिद्वार स्थित सर्वानन्द घाट से जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी का संदेश लेकर संत जागृति यात्रा आरम्भ हुई। प्रथम चरण में यह यात्रा सम्पूर्ण हिंदीभाषी क्षेत्र में जाएगी और सभी धार्मिक मठ-मंदिरों और आश्रमों तक संत जागृति संदेश देगी। दूसरे चरण में यह यात्रा दक्षिण भारत जाएगी। यह यात्रा अपने अंतिम चरण में हरिद्वार के संतों के दर्शन करेगी और उन्हें पूरे देश के संतों से हुए विचार विमर्श के बारे में जानकारी देगी। शुक्रवार को प्रेस वार्ता कर महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी ने जानकारी देते हुए बताया कि संत जागृति यात्रा में मुख्य रूप से स्वामी अमृतानंद, बालयोगी ज्ञाननाथ, स्वामी कृष्णानंद गिरी, यति कृष्णानंद सरस्वती तथा अन्य संत हैं। यात्रा में संत सनातन धर्म और सनातन धर्म के मानने वालों की रक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का आग्रह करेंगे। सनातन की रक्षा के लिये ठोस रणनीति बनाने का आग्रह करेंगे। कहा कि आज हमारे समाज को एक जाति के रूप में ढालने की आवश्यकता है। एक जाति वह होती है जिसका एक सर्वमान्य धर्मानुशासन होता है। सर्वमान्य धर्मानुशासन के लिये सर्वमान्य धर्म पुस्तक चाहिये। यह पुस्तक ऐसी होनी चाहिये जो हमें स्पष्ट रूप से यह धार्मिक आदेश दे कि एक सनातन धर्मी के रूप में हमे यह अवश्य ही करना है तथा यह कभी भी तथा किसी भी कीमत पर नहीं करना है। ऐसे किसी स्पष्ट धर्मानुशासन के अभाव में चालाक तथा स्वार्थी तत्व हममें विभिन्न प्रकार से मतभेद पैदा करके अपनी स्वार्थपूर्ति करके समाज को विनाश की तरफ धकेल देते हैं। हमारी अब तक कि कमी यही है कि हमारे पास अभी तक कोई सर्वमान्य धर्मपुस्तक नहीं है। यह धर्मपुस्तक हमारे सर्वमान्य महापुरुष श्रीराम,श्रीकृष्ण तथा श्रीपरशुरामजी के जीवन के आधार पर ही तैयार की जा सकती है क्योंकि महापुरुषों का जीवन ही हम सबको हमारे कर्तव्यपथ का बोध करवा सकता है। यदि सनातन धर्मी समाज के दिशानिर्देश के लिये एक ऐसी सर्वमान्य पुस्तक यदि तैयार हो जाती है तो निकट भविष्य में हम सनातन धर्मी भी एक जाति के रूप में धार्मिक रुप से संगठित हो जाएंगे तथा तब हम किसी भी धार्मिक या सामाजिक संकट से हम न केवल लड़ सकेंगे बल्कि संकट को समाप्त करके मानवता की रक्षा करने में भी सक्षम हो जाएंगे। यात्रा को रवाना करते हुए महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरी जी ने कहा कि यह छोटी सी साधारण यात्रा सनातन धर्म और विश्व इतिहास पर अपना अमिट प्रभाव छोड़ेगी। जो संदेश यह यात्रा आज मां गंगा के तट से लेकर जा रही है, उसके महत्व को नहीं समझा गया तो सनातन धर्म को बचाना असम्भव हो जाएगा। उन्होंने सभी आदरणीय सन्तों से इस यात्रा को आशीर्वाद, सहयोग और समर्थन देने का आग्रह किया।


Comments

Popular posts from this blog

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए

स्वामी नारायण आश्रम में गुरु पूर्णिमा पर्व की तैयारियां शुरू

  हरिद्वार। सिदाश्रम साधक परिवार (निखिल मंत्र विज्ञान) के तत्वावधान में भूपतवाला स्थित स्वामी नारायण आश्रम में 12 एवं 13 जुलाई को गुरु पूर्णिमा महोत्सव का विशाल आयोजन किया जाएगा। परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंद (डा.नारायण दत्त श्रीमाली) व माता भगवती की दिव्य छत्र-छाया एवं पूज्य गुरुदेव नंदकिशोर श्रीमाली के सानिध्य में आयोजित किए जा रहे दो-दिवसीय महोत्सव की तैयारियों को लेकर मंगलवार को आश्रम में निखिल मंत्र विज्ञान के संयोजक मनोज भारद्वाज की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गुरू पूर्णिमा महोत्सव की तैयारियों पर चर्चा की गयी। बैठक में कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी विजय कुमार झा,गोपाल सैनी, डा.एम.के.तिवारी,शैलेन्द्र शैली,राकेश गुप्ता,नागेन्द्र सिंह,अमर उपाध्याय,लोकेश,बलवान सैनी आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए। मनोज भारद्वाज ने बताया कि गुरु पूर्णिमा शिष्य और गुरु के मिलन का समारोह है। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर शिष्य अपने पूज्य गुरुदेव के श्रीचरणों में अपना मनोभाव समर्पित करते हैं। उन्होंने बताया कि दो दिवसीय समारोह में देश-विदेश से हजारों की संख्या में आने वाले निखिल शिष्यों का समागम होगा। महोत्सव को