Skip to main content

संस्कृत और प्राकृत भाषा में है अटूट संबंध: प्रोफेसर त्रिपाठी

 


हरिद्वार। श्री चिंतामणि पाश्र्वनाथ जैन श्वेतांबर मंदिर भूपतवाला मे जैन मंदिर के तत्वाधान में 33वीं श्रीआत्म वल्लभ ग्रैष्मी प्राकृत शिक्षण एवं अधिगम अध्ययनशाला का उद्घाटन उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर देवी प्रसाद त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर डॉ. मोहन पांडेय ने मंगलाचरण एवं सरस्वती वंदना की। समस्त अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर प्राचीनतम भाषा प्राकृत भाषा के अध्ययन और अध्यापन के लिए आयोजित अध्ययनशाला का शुभारंभ किया,जो एक माह ( 5 जून से 3 जुलाई तक) तक चलेगी। संस्थान के निदेशक प्रोफेसर गया चरण त्रिपाठी ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि संस्कृत और प्राकृत प्राचीनतम भाषाएं है जिनका विकास बारह से पन्द्रह सौ ईसा पूर्व आर्यावर्त में हुआ था। यह पाली, संस्कृत,ग्रीक,रोमन जैसी भाषाओं की समकालीन रही है जो दुर्भाग्यवश समय के साथ विलुप्त होती जा रही है। ध्यातव्य है कि भोगीलाल लहेरचंद इंस्टीट्यूट आफ इंडोलॉजी के द्वारा विगत 32 वर्षों से इस भाषा को संरक्षित एवं प्रचलित किए जाने का उपक्रम किया जाता रहा है। इसके पहले के सभी कार्यशालाओं का आयोजन दिल्ली स्थित वल्लभ स्मारक जैन मंदिर में ही होता रहा था। इस वर्ष पहली बार प्रयोग के तौर पर इसका आयोजन दिल्ली से बाहर भूपतवाला स्थित जैन मंदिर, हरिद्वार में किया गया है, जिसमें प्राकृत भाषा के शिक्षाविद एक साथ अध्ययन और अध्यापन करेंगे। उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर देवी प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि संस्कृत और प्राकृत भाषा में अटूट संबंध है, प्राकृत भाषा में ही जैन साहित्य और धर्म ग्रंथों की रचना हुई है। यह अखंड भारत की प्राचीन भाषा थी जो विलुप्त होती जा रही है। कार्यशाला में राजस्थान,दिल्ली,कर्नाटक,महाराष्ट्र,पश्चिम बंगाल,उत्तर प्रदेश आदि देश के अनेक राज्यों से शिक्षार्थी शामिल हुए हैं। कार्यशाला मे केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय,जयपुर परिसर के कमलेश कुमार जैन ने धन्यवाद ज्ञापन किया जबकि श्वेता जैन,जयनाराण व्यास विश्वविद्यालय,जोधपुर सहित अनेक विद्वतजन उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन संस्थान के प्रबंधक वाचस्पति पाण्डेय ने किया।


Comments

Popular posts from this blog

ऋषिकेश मेयर सहित तीन नेताओं को पार्टी ने थमाया नोटिस

 हरिद्वार। भाजपा की ओर से ऋषिकेश मेयर,मण्डल अध्यक्ष सहित तीन नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस जारी किया है। एक सप्ताह के अन्दर नोटिस का जबाव मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में ऋषिकेश की मेयर श्रीमती अनिता ममगाईं, ऋषिकेश के मंडल अध्यक्ष दिनेश सती और पौड़ी के पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश रावत को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनबीर सिंह चैहान के अनुसार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में सभी को एक सप्ताह के भीतर अपना स्पष्टीकरण लिखित रूप से प्रदेश अध्यक्ष अथवा महामंत्री को देने को कहा गया है।

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए

स्वामी नारायण आश्रम में गुरु पूर्णिमा पर्व की तैयारियां शुरू

  हरिद्वार। सिदाश्रम साधक परिवार (निखिल मंत्र विज्ञान) के तत्वावधान में भूपतवाला स्थित स्वामी नारायण आश्रम में 12 एवं 13 जुलाई को गुरु पूर्णिमा महोत्सव का विशाल आयोजन किया जाएगा। परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंद (डा.नारायण दत्त श्रीमाली) व माता भगवती की दिव्य छत्र-छाया एवं पूज्य गुरुदेव नंदकिशोर श्रीमाली के सानिध्य में आयोजित किए जा रहे दो-दिवसीय महोत्सव की तैयारियों को लेकर मंगलवार को आश्रम में निखिल मंत्र विज्ञान के संयोजक मनोज भारद्वाज की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गुरू पूर्णिमा महोत्सव की तैयारियों पर चर्चा की गयी। बैठक में कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी विजय कुमार झा,गोपाल सैनी, डा.एम.के.तिवारी,शैलेन्द्र शैली,राकेश गुप्ता,नागेन्द्र सिंह,अमर उपाध्याय,लोकेश,बलवान सैनी आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए। मनोज भारद्वाज ने बताया कि गुरु पूर्णिमा शिष्य और गुरु के मिलन का समारोह है। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर शिष्य अपने पूज्य गुरुदेव के श्रीचरणों में अपना मनोभाव समर्पित करते हैं। उन्होंने बताया कि दो दिवसीय समारोह में देश-विदेश से हजारों की संख्या में आने वाले निखिल शिष्यों का समागम होगा। महोत्सव को