Skip to main content

राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत दो दिवसीय क्षमता विकास कार्यशाला आयोजित


 हरद्विार। राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान (आरजीएसए) के तहत हरिद्वार के बीएचईएल स्थित सेक्टर 5 के कन्वेंशन सेंटर में सोमवार को दो दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें पंचायत प्रतिनिधियों व कार्मिकों को ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। इस दो दिवसीय कार्यशाला के पहले दिन रुद्रप्रयाग,नैनीताल,उधमसिंहनगर,बागेश्वर, हरिद्वार एवं देहरादून जनपद के जनप्रतनिधियों ने मौजूदगी दर्ज कराई तथा सभ्य समाज बनाने के लिए  प्रेरित किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुये अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज ओमकार सिंह ने कहा कि विकास की एक शर्त होती है कि ग्राम पंचायतों में कितना विकास हुआ है, इसकी जानकारी प्रधानों के अतिरिक्त पंचायतीराज वभिाग के अन्य अधिकारियों को भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि समय-समय पर विकास कार्यों की समीक्षा भी करनी चाहिये। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों की समीक्षा के लिए आवश्यक है कि अधिकारियों को यात्रा भत्ता मुहैया कराया जाए। इस दिशा में भी कदम बढ़ाया जाएगा। इसके बाद उन्होंने सतत विकास लक्ष्यों के बारे में जानकारी देते हुये कहा कि ग्रामीणों को सुरक्षा, शिक्षा,ई-गवर्नेंस आदि की सम्पूर्ण जानकारी देनी चाहिये। उन्होंने गांव स्थापना दिवस को मनाने पर जोर देते हुये हर गांव की आदर्श हस्तियों को सम्मानित करने और एक सभ्य समाज बनाने के लिए प्रेरित किया।उन्होंने दूर-दूर से आए पंचायत प्रतिनिधियों  को लम्बित शिकायतों का समाधान भी किया। कार्यशाला को संबोधित करते हुए निदेशक   पंचायतीराज मंत्रालय भारत सरकार श्रीमती मालती रावत ने कहा कि हम उत्तराखंड के वासी हैं. ऐसे में हमने प्रकृति की सुख और विपदा दोनों को ही करीबी से देखा है। ऐसे में हमारी जिम्मेदारी भी काफी बढ़ जाती है। ईको सिस्टम को संरक्षित करते हुये सतत विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करना बहुत आवश्यक है। उन्होंने जोशीमठ में आई आपदा पर प्रकृति प्रेमियों को आगे आने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने इस बात पर चिंता जताई कि साल दर साल उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में हरियाली का स्तर चिंताजनक होता जा रहा हैै। ऐसे में पंचायत प्रतिनिधियों को अपनी जिम्मेदारी को गंभीरता से लेते हुये स्वच्छ और हरित ग्राम पंचायत की अवधारणा को साकार करना होगा तथा जल सम्बंधी सभी लाभकारी योजनाओं पर कार्य करें। इस अवसर पर नियोजन विभाग  के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनोज पंत ने मॉडल जीपीडीपी पर विस्तार से जानकारी देते हुये कहा कि हमें ग्रामीण क्षेत्रों की आवश्यकता को देखते और समझते हुये उनकी प्राथमकिताओं के आधार पर योजनाओं को लागू करना चाहिये। वहीं, जल जीवन मिशन के मुख्य अभियंता वीके पंत ने कहा कि हर घर तक स्वच्छ जल पहुंचाने के लिये केंद्र की मदद से काफी कार्य किया जा रहा है। ऐसे में हमारे जनप्रतनिधियों को जल सम्बंधी सभी लाभकारी योजनाओं पर कार्य करना चाहिये। इस अवसर पर ठोस अपशष्टि प्रबंधन विषय पर प्लास्टिक मैन के नाम से जाने जाने वाले विपिन कुमार ने कचरा प्रबंधन की बारीकी बताई। वहीं, ईग्राम स्वराज और जीपीडीपी पोर्टल के बारे में स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजर पंचायतीराज उत्तराखंड दिनेश गंगवार और एनआईसी कंसल्टेंट कमलेश ने विस्तार से जानकारी दी कार्यक्रम में उत्तराखंड प्रशासन अकादमी डॉ आरएस टोलिया ने त्रिस्तरीय पंचायत प्रतनिधियों एवं कार्मिकों का मार्गदर्शन किया। उन्होंने आर्थिक विकास की नीति को विस्तार से समझाते हुये सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों को सतत विकास की राह पर लाने का सूत्र साझा किया। उन्होंने लोक कल्याणकारी योजनाओं पर विशेष बल देते हुये कहा कि क्षेत्रों में जिन स्थानों में विकास कार्य अधूरा पड़ा है, उसे विकसित करना जरूरी है। उन्होंने इस संबंध में जनप्रतनिधियों से कहा कि वे क्षेत्र की जरूरतों को समझते हुए प्राथमकिता को समझते हुये योजनाओं पर काम करने को कहा। उन्होंने क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत स्तर पर विकास की रूपरेखा तैयार करने की बात की। कार्यक्रम में निदेशक पंचायतीराज मंत्रालय भारत सरकार श्रीमती मालती रावत, अपर सचिव पंचायतीराज ओमकार सिह, पंचायतीराज विभाग उत्तराखंड के संयुक्त निदेशक राजीव कुमार नाथ त्रिपाठी, एमओपीआर भारत सरकार की वरिष्ठ सलाहकार पियाली रॉय चौधरी, जिला पंचायत राज अधिकारी हरिद्वार अतुल प्रताप सिंह,जल जीवन मशिन के मुख्य अभियंता वीके पांडेय,स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजर निदेशालय पंचायतीराज दिनेश गंगवार आदि मौजूद रहे।


Comments

Popular posts from this blog

धूमधाम से गंगा जी मे प्रवाहित होगा पवित्र जोत,होगा दुग्धाभिषेक -डॉ0नागपाल

 112वॉ मुलतान जोत महोत्सव 7अगस्त को,लाखों श्रद्वालु बनेंगे साक्षी हरिद्वार। समाज मे आपसी भाईचारे और शांति को बढ़ावा देने के संकल्प के साथ शुरू हुई जोत महोसत्व का सफर पराधीन भारत से शुरू होकर स्वाधीन भारत मे भी जारी है। पाकिस्तान के मुल्तान प्रान्त से 1911 में भक्त रूपचंद जी द्वारा पैदल आकर गंगा में जोत प्रवाहित करने का सिलसिला शुरू हुआ जो आज भी अनवरत 112वे वर्ष में भी जारी है। इस सांस्कृतिक और सामाजिक परम्परा को जारी रखने का कार्य अखिल भारतीय मुल्तान युवा संगठन बखूबी आगे बढ़ा रहे है। संगठन अध्यक्ष डॉ महेन्द्र नागपाल व अन्य पदाधिकारियो ने रविवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से  मुल्तान जोत महोत्सव के संबंध मे वार्ता की। वार्ता के दौरान डॉ नागपाल ने बताया कि 7 अगस्त को धूमधाम से  मुलतान जोट महोत्सव सम्पन्न होगा जिसके हजारों श्रद्धालु गवाह बनेंगे। उन्होंने बताया कि आजादी के 75वी वर्षगांठ पर जोट महोत्सव को तिरंगा यात्रा के साथ जोड़ने का प्रयास होगा। श्रद्धालुओं द्वारा जगह जगह सुन्दर कांड का पाठ, हवन व प्रसाद वितरण होगा। गंगा जी का दुग्धाभिषेक, पूजन के साथ विशेष ज्योति गंगा जी को अर्पित करेगे।

बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दलों ने 127 कांवडियों,श्रद्धालुओं को गंगा में डूबने से बचाया

  हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन, अपर जिलाधिकारी पी0एल0शाह के मुख्य संयोजन एवं नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में कांवड़ मेले के दौरान बी0ई0जी0 आर्मी के तैराक दल अपनी मोटरबोटों एवं सभी संसाधनों के साथ कांवडियों की सुरक्षा के लिये गंगा के विभिन्न घाटों पर तैनात होकर मुस्तैदी से हर समय कांवड़ियों को डूबने से बचा रहे हैं। बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल द्वारा कांवड़ मेला अवधि के दौरान 127 शिवभक्त कांवडियों,श्रद्धालुओं को डूबने से बचाया गया। 17 वर्षीय अरूण निवासी जालंधर, 24 वर्षीय मोनू निवासी बागपत, 18 वर्षीय अमन निवासी नई दिल्ली, 20 वर्षीय रमन गिरी निवासी कुरूक्षेत्र, 22 वर्षीय श्याम निवासी सराहनपुर, 23 वर्षीय संतोष निवासी मुरादाबाद, 18 वर्षीय संदीप निवासी रोहतक आदि को विभिन्न घाटों से बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल द्वारा गंगा में डूबने से बचाया गया तथा साथ ही साथ प्राथमिक उपचार देकर उन सभी कांवडियों को चेतावनी दी गयी कि गंगा में सुरक्षित स्थानों में ही स्नान करें। कांवड़ मेला अवधि के दौरान बी0ई0जी0आर्मी तैराक दल एवं रेड क्रास स्वयंसेवकों द्वारा गंगा के पुलों एवं घाटों पर माइकिं

अयोध्या,मथुरा,वृंदावन मे भी बनेगा महाजन भवन,नरेश महाजन बने उपाध्यक्ष

  हरिद्वार। उतरी हरिद्वार स्थित महाजन भवन मे आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय महाजन शिरोमणि सभा के सदस्यों ने महाजन भवन मे महाजन बिरादरी में से पठानकोट की मुकेरियां विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुने गये विधायक जंगीलाल महाजन का जोरदार स्वागत किया। बताते चले कि जंगी लाल महाजन हरिद्वार महाजन भवन के चेयरमैन, तथा आल इंडिया महाजन शिरोमणी सभा के प्रैसिडेट पद पर भी महाजन बिरादरी की सेवा कर रहें हैं। इस अबसर पर अखिल भारतीय महाजन सभा के चेयरमैन व (पठानकोट) से भाजपा विधायक जंगीलाल महाजन ने कहा कि आल इंडिया महाजन सभा की पद्धति के अनुसार नरेश महाजन जो कि आल इंडिया सभा के सीनियर बाईस चेयरमैन भी है को हरिद्वार महाजन भवन में उपाध्यक्ष तथा हरीश महाजन को महामंत्री निुयुक्त किया। इस अबसर पर जंगी लाल महाजन ने कहा कि हम आशा ये दोनों मिलकर समितिया भी बनायेगे और अन्य सभाओं को जोडकर हरिद्वार महाजन भवन की उन्नति के लिए जो हमारे बुजुर्गों ने जो विरासत हमे दी है उसे आगे बढायेगे। हम चाहते हैं हरिद्वार महाजन भवन की तरह ही मथुरा,बृदांवन तथा अयोध्या मे भी भवन बने। उसके लिए ये दोनों अपना योगदान देगे। इसीलिए