Skip to main content

भेल उपनगरी मे बिगड़ती कानून व्यवस्था से व्यापारी नाराज

 पुलिस की नाकामी के चलते नगर प्रशासक ने संभाली कमान

हरिद्वार। डॉ.हिमांशु द्विवेदी- भेल उप नगरी में बिगड़ती कानून व्यवस्था को सुधारने में पुलिस नाकाम रही है। ऐसा भेल प्रबंधन और कर्मचारियों का मानना है आये दिन झगड़े फसाद और व शराबियो का जमावडा को रोकने के लिए अब भेल नगर प्रशासक ने संपदा विभाग की पूरी टीम के साथ कमान संभाल ली है। बीती देर रात तक नगर प्रशासक विजय सिंह चौहाण, कुलदीप चौहान एवं विवेक यादव समेत कई अन्य अधिकारियों को लेकर सेक्टर एक के खोखा मार्केट मे पहुँच कर मार्केट मे बाहरी लोगो के आने जाने वालो से पूछताछ करते नजर आये।  उन्होंने मार्केट के सामने सड़क पर कार मे बैठ कर शराब पी रहे शक्स को फटकार लगाई ।  हलांकि इस तरह के जरायम कार्यो को रोकने का काम रानीपुर पुलिस को करना चाहिए। लेकिन भेल क्षेत्र में रानीपुर पुलिस अपराध और बिगड़ती कानून व्यवस्था को सुधारने में नाकाम साबित हुई है। अभी हाल मे सेक्टर एक मे भेल कर्मचारी के साथ कार चालक से हुए विवाद को खोखा मार्केट से जोडा जा रहा है। जिस कारण उपनगरी भेल के नगर प्रशासक ने नैतिक जिम्मेदारी निभाते हुए इस कार्य की पहल की है, और सेक्टर 1 की दुकानों को 9ः00 बजे तक बंद करने के मौखिक आदेश भी दे दिए, वहीं भेल कर्मचारियों का आरोप है कि खोखा मार्केट व रामलीला मैदान सेक्टर-1 में असामाजिकतत्व एकत्र होते हैं और शराब पीकर हुड़दंग मचाते हैं जिसकी शिकायत रानीपुर पुलिस को की जाती है,परंतु पुलिस बिना कार्रवाई के उन्हें छोड़ देती है। इस बात को लेकर श्रमिक नेताओं ने संपदा विभाग व महाप्रबंधक मानव संसाधन से शिकायत करते हुए नाराजगी व्यक्त की है। उसका संज्ञान लेते हुए नगर प्रशासक ने कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए कमान अपने हाथ में ली है ताकि भेल कर्मचारी सुरक्षित वह सुकून से जिंदगी बिता सकें। नगर प्रशासक ने 1सप्ताह के लिए रात्रि 9ः00 बजे तक सेक्टर 1 की दुकाने बंद करने के मौखिक आदेश दिए हैं। बताते चलें कि पूर्व में भी खोखा मार्केट के पास झगडा फसाद में एक व्यक्ति को चाकू मारकर घायल कर दिया था। उस वक्त भी खोखा मार्केट को 1 सप्ताह के लिए पूर्णतः बंद करा दिया गया था। लेकिन इस प्रकार की घटनाओं पर अंकुश लगने का नाम नहीं ले रहीं है। आए दिन घटनाओं से परेशान भेल कर्मियों की नींद हराम है। कानून व्यवस्था सही रहे यह हम सभी व्यापारी चाहते हैं, परन्तु भेल प्रबंधन द्वारा बिना पूर्व सूचना के दुकाने जल्दी बंद कराना गलत है। इससे व्यपरिओं को नुकसान होता है। इन अपराधों को रोकने के लिए पुलिस की गश्त बढ़नी चाहिए।ःसेक्टर एक के व्यापारी वही दूसरी ओर पुलिस का कहना है कि संज्ञेय अपराध की जानकारी पुलिस को दे। यदि कहीं कोई संज्ञेय अपराध हो रहा है तो आम नागरिक 112 पर फोन कर पुलिस को जानकारी दें तो अपराधी के खिलाफ कार्यवाही होगी। जहाँ तक चेतक गश्त की बात है तो वह तो सभी क्षेत्रों में जारी है। सड़क पर शराब पीना अपराध है सूचना मिलने पर कार्यवाही होगी।ःनरेंद्र सिंह बिष्ट ,प्रभारी,रानीपुर कोतवाली)


Comments

Popular posts from this blog

धूमधाम से गंगा जी मे प्रवाहित होगा पवित्र जोत,होगा दुग्धाभिषेक -डॉ0नागपाल

 112वॉ मुलतान जोत महोत्सव 7अगस्त को,लाखों श्रद्वालु बनेंगे साक्षी हरिद्वार। समाज मे आपसी भाईचारे और शांति को बढ़ावा देने के संकल्प के साथ शुरू हुई जोत महोसत्व का सफर पराधीन भारत से शुरू होकर स्वाधीन भारत मे भी जारी है। पाकिस्तान के मुल्तान प्रान्त से 1911 में भक्त रूपचंद जी द्वारा पैदल आकर गंगा में जोत प्रवाहित करने का सिलसिला शुरू हुआ जो आज भी अनवरत 112वे वर्ष में भी जारी है। इस सांस्कृतिक और सामाजिक परम्परा को जारी रखने का कार्य अखिल भारतीय मुल्तान युवा संगठन बखूबी आगे बढ़ा रहे है। संगठन अध्यक्ष डॉ महेन्द्र नागपाल व अन्य पदाधिकारियो ने रविवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से  मुल्तान जोत महोत्सव के संबंध मे वार्ता की। वार्ता के दौरान डॉ नागपाल ने बताया कि 7 अगस्त को धूमधाम से  मुलतान जोट महोत्सव सम्पन्न होगा जिसके हजारों श्रद्धालु गवाह बनेंगे। उन्होंने बताया कि आजादी के 75वी वर्षगांठ पर जोट महोत्सव को तिरंगा यात्रा के साथ जोड़ने का प्रयास होगा। श्रद्धालुओं द्वारा जगह जगह सुन्दर कांड का पाठ, हवन व प्रसाद वितरण होगा। गंगा जी का दुग्धाभिषेक, पूजन के साथ विशेष ज्योति गंगा जी को अर्पित करेगे।

बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दलों ने 127 कांवडियों,श्रद्धालुओं को गंगा में डूबने से बचाया

  हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन, अपर जिलाधिकारी पी0एल0शाह के मुख्य संयोजन एवं नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में कांवड़ मेले के दौरान बी0ई0जी0 आर्मी के तैराक दल अपनी मोटरबोटों एवं सभी संसाधनों के साथ कांवडियों की सुरक्षा के लिये गंगा के विभिन्न घाटों पर तैनात होकर मुस्तैदी से हर समय कांवड़ियों को डूबने से बचा रहे हैं। बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल द्वारा कांवड़ मेला अवधि के दौरान 127 शिवभक्त कांवडियों,श्रद्धालुओं को डूबने से बचाया गया। 17 वर्षीय अरूण निवासी जालंधर, 24 वर्षीय मोनू निवासी बागपत, 18 वर्षीय अमन निवासी नई दिल्ली, 20 वर्षीय रमन गिरी निवासी कुरूक्षेत्र, 22 वर्षीय श्याम निवासी सराहनपुर, 23 वर्षीय संतोष निवासी मुरादाबाद, 18 वर्षीय संदीप निवासी रोहतक आदि को विभिन्न घाटों से बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दल द्वारा गंगा में डूबने से बचाया गया तथा साथ ही साथ प्राथमिक उपचार देकर उन सभी कांवडियों को चेतावनी दी गयी कि गंगा में सुरक्षित स्थानों में ही स्नान करें। कांवड़ मेला अवधि के दौरान बी0ई0जी0आर्मी तैराक दल एवं रेड क्रास स्वयंसेवकों द्वारा गंगा के पुलों एवं घाटों पर माइकिं

गुरु ज्ञान की गंगा में मन का मैल,जन्मों की चिंताएं और कर्त्तापन का बोध भूल जाता है - गुरुदेव नन्दकिशोर श्रीमाली

  हरिद्वार निखिल मंत्र विज्ञान एवं सिद्धाश्रम साधक परिवार की ओर से देवभूमि हरिद्वार के भूपतवाला स्थित स्वामी लक्ष्मी नारायण आश्रम में सौभाग्य कीर्ति गुरु पूर्णिमा महोत्सव का आयोजन उल्लास पूर्वक संपन्न हुआ। इस पावन पर्व के अवसर पर स्वामी लक्ष्मी नारायण आश्रम और आसपास का इलाका जय गुरुदेव व हर हर महादेव के जयकारों से गुंजायमान रहा। परमहंस स्वामी निखिलेश्वरानंद (डॉ नारायण दत्त श्रीमाली) एवं माता भगवती की दिव्य छत्रछाया में आयोजित इस महोत्सव को संबोधित करते हुए गुरुदेव नंदकिशोर श्रीमाली ने गुरु एवं शिष्य के संबंध की विस्तृत चर्चा करते हुए शिष्य को गुरु का ही प्रतिबिंब बताया। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार स्वयं को देखने के लिए दर्पण के पास जाना पड़ता है,उसी प्रकार शिष्य को गुरु के पास जाना पड़ता है, जहां वह अपनी ही छवि देखता है। क्योंकि शिष्य गुरु का ही प्रतिबिंब है और गुरु भी हर शिष्य में अपना ही प्रतिबिंब देखते हैं। गुरु में ही शिष्य है और शिष्य में ही गुरु है। गुरु पूर्णिमा शिष्यों के लिए के लिए जन्मों से ढोते आ रहे कर्त्तापन की गठरी को गुरु चरणों में विसर्जित कर गुरु आलिंगन में बंधने का दिवस